1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सरकार को इस साल मिल सकती है खुशखबरी, RBI से मिल सकती है अधिशेष राशि की पहली किस्त

सरकार को इस साल मिल सकती है खुशखबरी, RBI से मिल सकती है अधिशेष राशि की पहली किस्त

वित्त मंत्रालय को इस साल के आखिर तक भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से अधिशेष हस्तांतरण की पहली किस्त मिल सकती है। आरबीआई अधिशेष का सरकार को हस्तांतरण के मसले पर बिमल जालान समिति अपनी रिपोर्ट को अंतिम रूप दे चुकी है। First tranche of RBI surplus this calendar

India TV Business Desk India TV Business Desk
Updated on: August 17, 2019 15:32 IST
Government may receive first tranche of RBI surplus this calendar- India TV Paisa

Government may receive first tranche of RBI surplus this calendar

नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय को इस साल के आखिर तक भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से अधिशेष हस्तांतरण की पहली किस्त मिल सकती है। आरबीआई अधिशेष का सरकार को हस्तांतरण के मसले पर बिमल जालान समिति अपनी रिपोर्ट को अंतिम रूप दे चुकी है। 

इस रिपोर्ट पर आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड द्वारा विचार विमर्श करने और रिपोर्ट को मंजूरी देने के बाद दिसंबर तक सरकार को अधिशेष राशि की पहली किस्त का हस्तांतरण किया जा सकता है। आरबीआई के पूर्व गवर्नर बिमल जालान की अगुवाई में छह सदस्यीय समिति का गठन यह आकलन करने के लिए किया गया था कि आरबीआई अपनी पूंजी आरक्षित निधि की कितनी राशि सरकार को हस्तांतरित कर सकता है और कितनी राशि उसे अपने पास रखनी चाहिए। 

ये भी पढ़ें : जीरो बैलेंस पर खुलने वाले प्रधानमंत्री जन-धन खातों में जमा है 1 लाख करोड़ रुपए की राशि

समिति ने इस संबंध में अपनी रिपोर्ट को अंतिम रूप दे दिया है और यह जल्द ही आरबीआई को सौंपी जाएगी जिस पर इस महीने के आखिर में आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड की बैठक में विचार-विमर्श किया जाएगा और इसे बोर्ड की मंजूरी मिलेगी। आर्थिक कार्य सचिव अतनू चक्रवर्ती आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड में सरकार की ओर से निदेशक हैं। 

ये भी पढ़ें : मारुती सुजुकी ने 3000 अस्थायी कर्मचारियों को नौकरी से निकाला, वाहन क्षेत्र में सुस्ती का दिख रहा असर

एक सूत्र ने बताया कि सरकार को उम्मीद है कि आरबीआई अधिशेष हस्तांतरण राशि की पहली किस्त उसे इस साल मिलेगी। रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद आरबीआई का केंद्रीय बोर्ड इस महीने के आखिर में होने वाली बैठक में इस पर चर्चा करेगा और इसे आगामी बैठक में या उसके बाद की बैठक में मंजूरी दी जा सकती है। आमतौर पर बोर्ड की बैठक महीने में एक बार होती है। 

Write a comment