1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सरकार ने गेहूं और तुअर दाल पर लगाया 10 फीसदी आयात शुल्‍क, कीमतों को नियंत्रण में रखने की है कोशिश

सरकार ने गेहूं और तुअर दाल पर लगाया 10 फीसदी आयात शुल्‍क, कीमतों को नियंत्रण में रखने की है कोशिश

केंद्र सरकार ने गेहूं और तुअर दाल पर 10 फीसदी का आयात शुल्‍क लगा दिया है। बिजनेस चैनल CNBC-TV18 के अनुसार, ने बिना किसी सूत्र का हवाला दिए यह जानकारी दी है।

Manish Mishra [Updated:28 Mar 2017, 2:43 PM IST]
सरकार ने गेहूं और तुअर दाल पर लगाया 10 फीसदी आयात शुल्‍क, कीमतों को नियंत्रण में रखने की है कोशिश- IndiaTV Paisa
सरकार ने गेहूं और तुअर दाल पर लगाया 10 फीसदी आयात शुल्‍क, कीमतों को नियंत्रण में रखने की है कोशिश

नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार ने गेहूं और तुअर दाल पर तत्‍काल प्रभाव से 10 फीसदी का आयात शुल्‍क लगा दिया है। केंद्र सरकार ने हाल के महीनों में विदेश से बड़े पैमाने पर हो रही खरीदारी को देखते हुए लगभग चार महीने बाद यह शुल्‍क लगाया है। सरकार ने पिछले साल आठ दिसंबर को गेहूं पर सीमाशुल्क 10 प्रतिशत से घटाकर शून्य कर दिया था। ऐसा घरेलू उपलब्धता बढ़ाने और खुदरा मूल्यों पर लगाम रखने के उद्देश्य से किया गया था। तुअर दाल पर कोई शुल्क नहीं था।

वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने लोकसभा में इस फैसले की घोषणा करते हुए कहा कि 17 मार्च, 2012 की सरकार की एक अधिसूचना में संशोधन किया गया है ताकि गेहूं और तुअर दाल पर 10 फीसदी का बेसिक सीमाशुल्क तत्काल प्रभाव से लागू हो।

उन्होंने कहा कि इस फैसले से मौजूदा आयात के स्तर पर करीब 840 करोड़ रुपए का राजस्व प्रभाव होने का अनुमान है। इस कदम से गेहूं और तुअर के थोक मूल्य में कमी लाने में मदद मिलेगी और अच्छे उत्पादन की उम्मीद कर रहे किसानों को भी अच्छा समर्थन मूल्य मिलेगा। मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात में गेहूं की नई फसल मंडियों में पहुंचने लगी है।

यह भी पढ़ें :किसानों के हित में चने पर 25 फीसदी का आयात शुल्क लगा सकती है सरकार

सरकार के दूसरे आकलन के अनुसार 2016-17 फसल उत्पादन वर्ष (जुलाई 2016 से जून 2017 तक) में अच्छे मानसून की वजह से गेहूं का उत्पादन रिकार्ड करीब 9.7 करोड़ टन होने का अनुमान है। इससे पिछले वर्ष यह 9.23 करोड़ टन था।

इसी तरह तुअर दाल का उत्पादन 42.3 लाख टन होने का अनुमान है जो इससे पिछले साल में 25.6 लाख टन रहा था। तुअर दाल की फसल खरीफ के मौसम में उगाई जाती है। गौरतलब है कि तुअर दाल का थोक मूल्य अधिक उत्पादन की वजह से कम हो गया है और कुछ स्थानों पर किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य भी नहीं मिल रहा है।

यह भी पढ़ें :डेबिट-क्रेडिट कार्ड से लेकर ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन तक के लिए देना होता है चार्ज

भारत विश्‍व का दूसरा सबसे बड़ा गेहूं उत्‍पादक देश है। पिछले साल सितंबर में इसने गेहूं पर इंपोर्ट टैक्‍स 25 फीसदी से घटा कर 10 फीसदी  कर दिया था। इसके बाद 8 दिसंबर 2016 को इसे पूरी तरह समाप्‍त कर दिया था

Web Title: सरकार ने गेहूं और तुअर दाल पर लगाया 10 फीसदी आयात शुल्‍क
Write a comment