1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. FCI ने जारी किए आंकड़े, सरकारी एजेंसियों ने देशभर में अबतक 323 लाख टन गेहूं खरीदा

FCI ने जारी किए आंकड़े, सरकारी एजेंसियों ने देशभर में अबतक 323 लाख टन गेहूं खरीदा

सरकारी एजेंसियों ने चालू रबी विपणन वर्ष (2019-20) में देशभर के किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर 323 लाख टन से ज्यादा गेहूं की खरीद कर ली है।

Bhasha Bhasha
Updated on: May 21, 2019 13:43 IST
Figures issued by FCI- India TV Paisa
Photo:WHEAT PROCUREMENT

Government agencies bought 323 lakh tone wheat

नई दिल्ली। सरकारी एजेंसियों ने चालू रबी विपणन वर्ष (2019-20) में देशभर के किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर 323 लाख टन से ज्यादा गेहूं की खरीद कर ली है। देश के प्रमुख गेहूं उत्पादक राज्यों में सबसे ज्यादा गेहूं की सरकारी खरीद पंजाब में हुई है, जबकि बिहार में गेहूं की सरकारी खरीद का अब तक कोई आंकड़ा नहीं मिला है।

भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देशभर में 323.68 लाख टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। केंद्र सरकार ने इस साल देशभर में 357 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा है, जबकि पिछले सीजन 2018-19 में सरकारी खरीद एजेंसियों ने देशभर में 357.95 लाख टन गेहूं की खरीद की थी। एफसीआई आंकड़ों के अनुसार, पंजाब में सबसे ज्यादा 127.01 लाख टन गेहूं की खरीद हो चुकी है, जोकि केंद्र सरकार द्वारा प्रदेश में गेहूं की खरीद के लिए तय लक्ष्य 125 लाख टन से अधिक है।

सरकारी एजेंसियों ने हरियाणा में अब तक 93.23 लाख टन गेहूं खरीदा है। मध्य प्रदेश में गेहूं की खरीद 65.45 लाख टन हो चुकी है जबकि देश के सबसे बड़े गेहूं उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में महज 26.56 लाख टन गेूहं की खरीद हो पाई है। एफसीआई आंकड़ों के अनुसार, राजस्थान में 10.89 लाख टन, उत्तराखंड में 39,000 टन, चंडीगढ़ में 12,000 टन, गुजरात में 5,000 टन और हिमाचल प्रदेश में 1,000 टन गेहूं की सरकारी खरीद हुई है, जबकि बिहार में गेहूं की सरकारी खरीद का कोई आंकड़ा एफसीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है।

केंद्र सरकार ने चालू रबी विपणन सीजन 2019-20 के लिए गेहूं का न्यनूतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 1,840 रुपए प्रति क्विंटल तय किया है। पिछले साल के 1735 रुपए के मुकाबले ये 105 रुपए ज्यादा है। सरकार ने इस साल सबसे ज्यादा पंजाब में 125 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा है। प्रदेश में पिछले सीजन में 126.92 लाख टन गेहूं की खरीद हुई थी।

हरियाणा में इस साल 85 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा गया है, जबकि पिछले साल सरकारी एजेंसियों ने प्रदेश में 87.84 लाख टन गेहूं खरीदा था। देश के दूसरे सबसे सबसे बड़े गेहूं उत्पादक राज्य मध्यप्रदेश में इस साल 75 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा गया है, जबकि प्रदेश में पिछले साल 73.13 लाख टन गेहूं की खरीद हुई थी।

देश के सबसे बड़े गेहूं उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में इस साल 50 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा गया है। पिछले साल उत्तर प्रदेश में सरकारी एजेंसियों ने कुल 52.94 लाख टन गेहूं की खरीद की थी। राजस्थान में इस साल 17 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य है जबकि पिछले साल प्रदेश में 15.32 लाख टन गेहूं की खरीद हुई थी।

इस साल बिहार और उत्तरखंड में दो-दो लाख टन और गुजरात में 50,000 टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा अन्य राज्यों में 50,000 टन गेहूं खरीद का लक्ष्य है। पिछले साल उत्तराखंड में 1.10 लाख टन, गुजरात में 37,000 टन, हिमाचल प्रदेश में 1,000 टन बिहार में 18,000 टन और चंडीगढ़ में 14,000 टन गेहूं की खरीद हुई थी। केंद्रीय कृषि सहाकारिता एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा फरवरी में जारी दूसरे अग्रिम उत्पादन अनुमान के अनुसार, इस साल देश में गेहूं का उत्पादन 99.12 करोड़ टन हो सकता है।

Write a comment
yoga-day-2019