1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Swiggy से ऑर्डर किए फ्रेंच फ्राई में निकला ‘फ्राई कॉक्रोच’ और Pepsi की बोतल में ‘अनजाना पदार्थ’? FSSAI पहुंचा मामला

Swiggy से ऑर्डर किए फ्रेंच फ्राई में निकला ‘फ्राई कॉक्रोच’ और Pepsi की बोतल में ‘अनजाना पदार्थ’? FSSAI पहुंचा मामला

दो अलग-अलग उपभोक्ताओं ने FSSAI से शिकायत की है, पहले उपभोक्ता ने फ्रेंच फ्राई में तला हुआ कॉक्रोच पाए जाने की शिकायत की है और दूसरे उपभोक्ता ने पेप्सी की बोतल में अनजाना पदार्थ मिलने की शिकायत की है

Manoj Kumar Manoj Kumar
Updated on: April 25, 2018 14:26 IST
cockroach in french fries and unidentified object in Pepsi bottle- India TV Paisa

FSSAI received the complaint of cockroach in french fries and unidentified object inside sealed Pepsi bottle

नई दिल्ली। मोबाइल एप के जरिए खाने पीने की चीजों का ऑर्डर पूरा करने वाली एप Swiggy की फूड सेफ्टी की व्यवस्था को लेकर सवाल उठने लगे हैं। सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर हर्षिता जायसवाल ने अपने ट्विटर हेंडल @jharshita21 से आरोप लगाया है कि उसने Swiggy के जरिए फ्रेंच फ्राई ऑर्डर किए थे और जब ऑर्डर की डिलिवरी को देखा तो उसमें फ्रेंच फ्राई के साथ फ्राई कॉक्रोच भी पड़ा हुआ था।

@jharshita21 ट्विटर हेंडल ने अपने ट्वीट में यह भी कहा है कि Swiggy के जरिए यह ऑर्डर #bristo37 रेस्टोरेंट से किया गया था। हर्षिता जायसवाल ने अपने ट्वीट के साथ केंद्रीय स्वास्थ मंत्री जेपी नड्डा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI), खाद्य मंत्री राम विलास पासवान, उत्तर प्रदेश के उप मुख्य मंत्री केशव प्रसाद मौर्य और भारतीय खाद्य निगम को भी टैग किया है। इंडिया टीवी की टीम ने जब @jharshita21 के ट्विटर हेंडल के जरिए जब रेस्टोरेंट की जगह की जानकारी के लिए पूछा तो उस ट्विटर हेंडल नोएडा के सेक्टर 37 में स्थित Bristo37 रेस्टोरेंट का नाम बताया।

दूसरा मामला शीतल पेय कंपनी पेप्सी की बोतल में किसी अनजान पदार्थ के पाए जाने का है, इसमें भी उसामा अहमद नाम के एक शख्स ने अपने ट्विटर हेंडल @usamafarooqui से FSSAI को टैग करते हुए लिका है कि पेप्सी की सील बोतल में कोई अनजाना पदार्थ पाया गया है और एक महीने में ऐसा दूसरी बार हुआ है, उन्होंने क्वॉलिटी कंट्रोल को लेकर सवाल उठाए हैं। हालांकि ट्ववीट में यह जानकारी नहीं दी गई है की मामला कहां का है।

इन दोनो ट्विटर हेंडल से जानकारी मिलने के बाद FSSAI ने संज्ञान लिया है और अपने ट्विटर हेंडल से दोनो शिकायतकर्ताओं को कहा है कि वह संबधित मामले की शिकायत और पूरी जानकारी दें, इसके लिए FSSAI ने दोनो को शिकायत वाली वेबसाइट का लिंक भेजा है।

Write a comment