1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. ओडिशा में निवेश को लेकर फ्रांस ने दिखाई रुचि, होटल, इस्‍पात, ऊर्जा के क्षेत्र में कर सकता सहयोग

ओडिशा में निवेश को लेकर फ्रांस ने दिखाई रुचि, होटल, इस्‍पात, ऊर्जा के क्षेत्र में कर सकता सहयोग

फ्रांस के प्रतिनिधिमंडल ने राज्य में होटल, इस्पात, बिजली उपकरण, ऊर्जा और अन्य क्षेत्रों में निवेश में रूचि दिखाई।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 15, 2018 19:19 IST
Odisha investment - India TV Paisa

Odisha investment 

भुवनेश्वर। फ्रांस का एक व्यावसायिक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को यहां मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से राज्य सचिवालय में मिलने पहुंचा। फ्रांस के प्रतिनिधिमंडल ने राज्य में निवेश में अपनी रूचि दिखाई। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि व्यवसायियों ने राज्य में होटल, इस्पात, बिजली उपकरण, ऊर्जा और अन्य क्षेत्रों में निवेश में रूचि दिखाई।

मुख्यमंत्री से मिलने यह प्रतिनिधिमंडल फ्रांस के भारत में राजदूत एलेक्जेंडर जेइग्लर के नेतृत्व में पहुंचा था। मुख्यमंत्री पटनायक से मुलाकात के बाद उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘उद्योगपतियों के प्रतिनिधिमंडल के साथ ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मिलकर प्रसन्नता हुई। आर्थिक क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ते इस राज्य में हम किस प्रकार अपनी मौजूदगी बढ़ा सकते हैं इस बारे में विचार विमर्श के लिये धन्यवाद।’’

फ्रांस के निवेशकों और उद्योगपतियों का स्वागत करते हुये मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने आमंत्रित व्यावसायियों को राज्य में नवंबर में होने वाले ‘मेक इन इंडिया’ निवेशक सम्मेलन में भाग लेने के लिये आमंत्रित किया। पटनायक ने कहा कि ओडिशा पूरी दुनिया के निवेशकों के लिये एक आकर्षक स्थल बनकर उभरा है। उन्होंने कहा कि खनिज संपदा संपन्न इस राज्य में लौह अयस्क, बाक्साइट, क्रोमाइट और कई तरह के खनिजों का भंडार उपलब्ध है।

मुख्यमंत्री ने फ्रांस के निवेशकों को यह भी बताया कि ओडिशा दक्षिण एशिया की एल्युमीनियम राजधानी है। देश के कुल एल्युमीनियम का 54 प्रतिशत इसी राज्य में उत्पादित होता है। इसके साथ ही ओडिशा इस्पात उत्पादन का भी बड़ा केन्द्र बन गया है। मुख्यमंत्री ने कारोबारियों से कहा कि राज्य सरकार रक्षा और ऐयरोस्पेस क्षेत्र के लिये जल्द ही नई नीतियों पेश करेगी। उन्होंने फ्रांस के व्यावसायिक समुदाय से विमान, इलेक्ट्रानिक, चिकित्सा उपकरणों के विनिर्माण और खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में निवेश करने का आग्रह किया।

Write a comment