1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Be Alert : गूगल प्लेस्टोर पर हैं कई भारतीय बैंकों के फर्जी एप, डाटा चोरी होने का है खतरा

Be Alert : गूगल प्लेस्टोर पर हैं कई भारतीय बैंकों के फर्जी एप, डाटा चोरी होने का है खतरा

गूगल प्लेस्टोर पर भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, सिटी बैंक सहित कई शीर्ष बैंकों के फर्जी एप मौजूद हैं

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: October 24, 2018 11:53 IST
google playstore- India TV Paisa
Photo:GOOGLE PLAYSTORE

google playstore

नई दिल्ली। सूचना प्रौद्योगिकी सुरक्षा से जुड़ी कंपनी सोफोज लैब्स ने एक रिपोर्ट में दावा किया है कि गूगल प्लेस्टोर पर भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, सिटी बैंक सहित कई शीर्ष बैंकों के फर्जी एप मौजूद हैं, जिनके जरिये इन बैंकों के हजारों ग्राहकों से जुड़े डाटा चोरी हो चुके होंगे और आगे भी इसकी आशंका बनी हुई है। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि इन फर्जी एंड्रॉयड एप में बैंक का असली लोगो लगा हुआ है, जिससे उपभोक्ता असली और नकली एप के बीच भेद नहीं कर पाते हैं। इन एप में मौजूद मालवेयर संभवत: हजारों उपभोक्ताओं तथा क्रेडिट कार्डों की सूचनाएं चोरी कर चुके हैं। 

इन बैंकों के नकली एप हैं मौजूद

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, सिटी बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और यस बैंक के फर्जी एप प्लेस्टोर पर मौजूद हैं। रिपोर्ट में शामिल बैंकों ने संपर्क किए जाने पर कहा कि उन्हें ऐसे नकली एप की जानकारी नहीं है। 

बैंकों ने नहीं दी कोई प्रतिक्रिया

सिटी इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि उनका बैंक रिपोर्ट में उल्लेखित एप से किसी भी प्रकार से प्रभावित नहीं हुआ है। बैंक ने सोफोज लैब को लिखित में कहा है कि रिपोर्ट से उसका नाम हटाया जाए। यस बैंक ने इस बारे में कहा कि बैंक के साइबर धोखाधड़ी विभाग को इससे अवगत कराया गया है। भारतीय स्टेट बैंक ने अब तक इसपर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। 

प्रलोभन देकर फंसाते हैं यूजर्स को

रिपोर्ट के अनुसार, ये एप कैश बैक, नि:शुल्क मोबाइल डाटा और बिना ब्याज का कर्ज समेत पुरस्कार का वादा कर उपभोक्ताओं को डाउनलोड, इंस्टॉल और इस्तेमाल के लिए प्रलोभन देते हैं। 

एंटीवायरस का करें इस्‍तेमाल

सोफोज लैब्स के शोधकर्ता पंकज कोहली ने कहा कि इस तरह के नकली एप एंड्रॉयड के लिए नए नहीं हैं। उन्होंने कहा कि आगे भी इस तरह के मालवेयर विभिन्न तरीकों से एंड्रॉयड एप प्लेस्टोर में सेंध लगाते रहेंगे। उन्होंने उपभोक्ताओं को हमेशा ऐसे एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करने की हिदायत दी जो मालवेयर से सुरक्षा तथा इंटरनेट सुरक्षा प्रदान करते हों और उपभोक्ताओं को सुरक्षित रखने के साथ ही इन नकली एप को जानकारियों की चोरी करने से रोकते हों। 

Write a comment