1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. दिलीप बिल्डकॉन को एनएचएआई से मिला 565 करोड़ का सड़क ठेका, सिंडिकेट बैंक जुटाएगा 3,990 करोड़ रुपए

दिलीप बिल्डकॉन को एनएचएआई से मिला 565 करोड़ का सड़क ठेका, सिंडिकेट बैंक जुटाएगा 3,990 करोड़ रुपए

सड़क निर्माण क्षेत्र की कंपनी दिलीप बिल्डकॉन लिमिटेड (डीबीएल) को महाराष्ट्र में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) से 565.02 करोड़ रुपया का ठेका मिला है।

Abhishek Shrivastava Abhishek Shrivastava
Published on: January 31, 2018 15:55 IST
dilip buildcon- India TV Paisa
dilip buildcon

नई दिल्‍ली। सड़क निर्माण क्षेत्र की कंपनी दिलीप बिल्डकॉन लिमिटेड (डीबीएल) को महाराष्ट्र में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) से 565.02 करोड़ रुपया का ठेका मिला है।

दिलीप बिल्डकॉन ने बंबई शेयर बाजार को बताया कि महाराष्ट्र में एनएचएआई की ईपीसी परियोजना की कीमत 565.02 करोड़ रुपए है। ईपीसी परियोजना के लिए कंपनी को एल-1 बोलीदाता (न्यूनतम लागत की बोली लगाने वाला) घोषित किया गया है। कंपनी ने कहा कि यह परियोजना महाराष्ट्र में राष्ट्रीय राजमार्ग 211 (नया राष्ट्रीय राजमार्ग 52) के तलवड़ी-करोड़ी खंड को चार/छह लेन बनाने के लिए है।

सिंडिकेट बैंक जुटाएगा 3,990 करोड़ रुपए  

सार्वजनिक क्षेत्र के सिंडिकेट बैंक ने अपनी कारोबार के विस्तार तथा नियामकीय पूंजी की जरूरत को पूरा करने के लिए 3,990 करोड़ रुपए जुटाने की योजना बनाई है।

बैंक ने कहा कि उसके निदेशक मंडल की दो फरवरी को होने वाली बैठक में 2017-18 के लिए बैंक की संशोधित पूंजी योजना को पहले के 3,500 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 3,990 करोड़ रुपए की मंजूरी दी जाएगी।

एडीबी ने पांच राज्यों को 25 करोड़ डॉलर का कर्ज मंजूर किया

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क विकास योजना के तहत पांच राज्यों में सभी मौसम के अनुकूल सड़कों के निर्माण के लिए भारत सरकार 25 करोड़ डॉलर का कर्ज देगा।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि एडीबी और भारत सरकार ने आज असम, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, ओड़िशा तथा पश्चिम बंगाल में 6,254 किलोमीटर की सभी मौसम के अनुकूल सड़कों के निर्माण को 25 करोड़ डॉलर के ऋण करार पर दस्तखत किए। कर्ज की पहली किस्त एडीबी बोर्ड द्वारा दिसंबर, 2017 में भारत के लिए मंजूर 50 करोड़ डॉलर के दूसरे ग्रामीण संपर्क निवेश कार्यक्रम का हिस्सा है।

Write a comment