1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Connaught Place है दफ्तर खोलने के लिए दुनिया की 9वीं सबसे महंगी जगह, जानिए क्या है किराया

Connaught Place है दफ्तर खोलने के लिए दुनिया की 9वीं सबसे महंगी जगह, जानिए क्या है किराया

देश की राजधानी दिल्ली का दिल कहा जाने वाला कनॉट प्लेस कोई कार्यालय खोलने के लिए दुनिया की नौंवी सबसे महंगी जगह है।

Bhasha Bhasha
Updated on: July 10, 2019 14:36 IST
connaught place delhi is 9th costliest office space location in the world- India TV Paisa
Photo:SOCIAL MEDIA

connaught place delhi is 9th costliest office space location in the world

नयी दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली का दिल कहा जाने वाला कनॉट प्लेस कोई कार्यालय खोलने के लिए दुनिया की नौंवी सबसे महंगी जगह है। संपत्ति सलाहकार कंपनी सीबीआरई के सर्वेक्षण के अनुसार यहां पर कार्यालयी जगह का वार्षिक किराया 144 डॉलर प्रति वर्गफुट तक है। 

सीबीआरई वैश्विक स्तर पर कार्यालयों की किराया लागत की निगरानी करती है। वह हर साल 'ग्लोबल प्राइम ऑफिस ऑक्युपेंसी कॉस्ट' सर्वेक्षण करती है। दिल्ली इस सर्वेक्षण में पिछले साल भी नौवें स्थान पर था। हांगकांग का सेंट्रल डिस्ट्रिक लगातार दूसरे साल इस सर्वेक्षण में शीर्ष स्थान पर रहा है। यहां किसी कार्यालय के लिए एक साल का किराया 322 डॉलर प्रति वर्गफुट है। रिपोर्ट में कहा गया है, 'नयी दिल्ली के कनॉट प्लेस में कार्यालय खोलने की लागत 143.97 डॉलर प्रति वर्गफुट है। यह पिछले साल की तरह ही नौंवे स्थान पर है।' 

मुंबई का बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (बीकेसी) और नरीमन पॉइंट इस सूची में क्रमश: 27वें और 40वें स्थान पर हैं। यहां पर किराये की लागत क्रमश: 90.67 डॉलर प्रति वर्गफुट और 68.38 डॉलर प्रति वर्गफुट वार्षिक है। 2018 की रैंकिंग में बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (BKC) 26वें पायदान पर नरीमन प्वाइंट 37वें पायदान पर थे।

सीबीआरई के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (भारत, दक्षिण पूर्व एशिया, पश्चिमी एशिया और अफ्रीका) अंशुमन मैगजीन ने कहा कि कार्यालयी जगहों पर भारतीय बाजार के कई शहरों में बढ़िया निवेश जारी है। वैश्विक कंपनियां इन शहरों में अपने कार्यालय खोलने के लिए इन शहरों में निवेश करने के पक्ष में हैं। 

अंशुमान मैग्जीन ने कहा कि अलग-अलग शहरों के सीबीडी में भारतीय बाजार का रूतबा इनवेस्टमेंट ग्रेड स्पेस में बरकरार है। उन्होंने कहा कि कमर्शियल ऑफिस मार्केट का रियल एस्टेट सेक्टर को मजबूती देने में बड़ा हाथ है। प्राइम मार्केट होने के चलते दिल्ली में गतिविधियां लगातार बनी हुई हैं। यह दुनिया के 10 सबसे महंगे इलाकों में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने में कामयाब रही है। 

सीबीआरई के सर्वे से पता चलता है कि ऑफिस स्पेस के लिहाज से दुनिया के 10 सबसे महंगे इलाकों में 6 एशिया के हैं। इस सूची में लंदन का वेस्ट-एंड दूसरे पायदान पर है। इस सूची में लंदन का वेस्ट एंड दूसरे स्थान पर, हांगकांग का कोलून तीसरे, न्यूयॉर्क का मिडटाउन मैनहैटन चौथे पर है जबकि चीन में बीजिंग का फाइनेंस स्ट्रीट इस सूची में पांचवें पायदान पर है। इस रिपोर्ट में दुनियाभर के 10 महंगे इलाकों की सूची में बहुत कम बदलाव होने की बात कही गई है। ज्यादातर देशों ने पिछले साल की सूची में अपनी जगह को बरकरार रखा है।

 

Write a comment