1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. City gas retail licence: अडानी, IOC, BPCL, टोरेंट गैस ने जीती सबसे ज्‍यादा बोलियां, 84 शहरों के लाइसेंस हुए नीलाम

City gas retail licence: अडानी, IOC, BPCL, टोरेंट गैस ने जीती सबसे ज्‍यादा बोलियां, 84 शहरों के लाइसेंस हुए नीलाम

शहरों में गैस के रिटेल डिस्‍ट्रीब्‍यूशन कारोबार के लाइसेंस के लिए सफल बोली लगाने वालों की आखिरी सूची सोमवार को तेल नियामक पीएनजीआरबी द्वारा जारी की गई।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 17, 2018 17:47 IST
PNG- India TV Paisa
Photo:PNG

PNG

नई दिल्‍ली। शहरों में गैस के रिटेल डिस्‍ट्रीब्‍यूशन कारोबार के लाइसेंस के लिए सफल बोली लगाने वालों की आखिरी सूची सोमवार को तेल नियामक पीएनजीआरबी द्वारा जारी की गई। इसमें उद्योगपति गौतम अडानी के नेतृत्‍व वाले अडानी समूह, सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी), भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन तथा टोरेंट गैस ने सबसे ज्‍यादा लाइसेंस हासिल करने में सफलता पाई है।  

सूची के अनुसार अडानी गैस को अकेले 13 शहरों में वाहनों के लिए सीएनजी तथा घरों को पाइप के जरिये रसोई गैस पहुंचाने का रिटेल कारोबार लाइसेंस मिला है। साथ ही अडानी समूह ने सरकारी कंपनी आईओसी के साथ मिलकर इलाहबाद समेत नौ अन्य शहरों के लिए गैस वितरण लाइसेंस हासिल किया है। कुल 84 शहरों के लाइसेंस को नीलामी के लिए रखा गया था।

आईओसी ने अकले ही सात शहरों के लाइसेंस हासिल किए हैं। इसमें तमिलनाडु में कोयंबटूर तथा सलेम एवं मध्य प्रदेश में गुना शहर भी शामिल है। बीपीसीएल की इकाई भारत गैस रिर्सोसेस लिमिटेड को उत्तर प्रदेश के अमेठी और रायबरेली शहरों तथा महाराष्ट्र के अहमदनगर जैसे 11 शहरों के लिए लाइसेंस मिला है। वहीं टोरेंट गैस प्राइवेट लिमिटेड ने 10 शहरों के लिए लाइसेंस हासिल किया है, जिसमें चेन्नई (तमिलनाडु), अलवर (राजस्थान), मुरादाबाद (उत्तर प्रदेश) और कराईकल (पुडुचेरी) शामिल हैं।

सार्वजनिक क्षेत्र की गेल की खुदरा इकाई गेल गैस को देहरादून समेत पांच शहरों के लिए लाइसेंस मिले हैं। राष्ट्रीय राजधानी में सीएनजी और पाइप के जरिये घरों में रसोई गैस पहुंचाने वाली इंद्रपस्थ गैस लिमिटेड को उत्तर प्रदेश के मेरठ और मुजफ्फरनगर के लिए लाइसेंस मिला है।  

हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि. (एचपीसीएल) और गुजरात गैस को एक-एक शहर के लिए, जबकि ग्रीन गैस को दो तथा महाराष्ट्र नेचुरल गैस को तीन शहरों के लिय लाइसेंस मिला है। बोली जीतने वालों में आईआरएम एनर्जी, हरियाणा सिटी गैस,  एस्सेल गैस, मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लि., त्रिपुरा नेचुरल गैस और असम गैस जैसी छोटी कंपनियां भी शामिल हैं।

पीएनजीआरबी के अनुसार 84 शहरों में आठ साल में 4,346 सीएनजी स्टेशन स्थापित करने की प्रतिबद्धता जताई गई है। साथ ही कंपनियों ने 30 सितंबर 2026 तक पाइप के जरिये 2.1 करोड़ रसोई गैस कनेक्शन देने का वादा किया है। शहरों में गैस वितरण के लिए नौवें दौर की बोली प्रक्रिया 12 अप्रैल को शुरू की गई थी और यह जुलाई में पूरी हुई।

Write a comment