1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. किसानों की आय दोगुनी करने और जीवन को आसान बनाने के लिए काम कर रही है सरकार: मोदी

किसानों की आय दोगुनी करने और जीवन को आसान बनाने के लिए काम कर रही है सरकार, खुद मोदी ने कही ये बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि सरकार कृषि क्षेत्र की चुनौतियों से निपटने के लिए समग्र रूप से प्रयास कर रही है और उसका लक्ष्य 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के साथ-साथ उनके जीवन को आसान बनाना है।

Abhishek Shrivastava Abhishek Shrivastava
Updated on: March 17, 2018 16:20 IST
PM Modi- India TV Paisa
PM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि सरकार कृषि क्षेत्र की चुनौतियों से निपटने के लिए समग्र रूप से प्रयास कर रही है और उसका लक्ष्य 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के साथ-साथ उनके जीवन को आसान बनाना है। 

उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को फसलों पर आने वाली उत्पादन लागत के डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) दिलाने के लिए काम कर रही है ताकि किसानों की आय बढ़ाई जा सके। किसानों को बढ़े हुए एमएसपी का लाभ दिलाना सुनिश्चित करने के लिए केंद्र सरकार राज्यों के साथ मिलकर काम कर रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोग एमएसपी को लेकर अफवाहें फैला रहे हैं और माहौल को निराशाजनक बनाने का प्रयास कर रहे हैं। 

प्रधानमंत्री ने आज यहां भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई) के मेला ग्रांउड में आयोजित कृषि उन्नति मेला में उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि फसलों की लागत में श्रम लागत, मशीनों का किराया, बीज और खाद का मूल्य, राज्य सरकारों को दिए जाने वाले शुल्क, कार्यशील पूंजी पर लगने वाला ब्याज और पट्टे पर ली गई जमीन का किराया आदि शामिल होगा। 

प्रधानमंत्री ने आजादी के बाद कृषि क्षेत्र में हासिल सफलता के लिए किसानों की कड़ी मेहनत की सराहना की। उन्होंने कहा कि आज खाद्यान्न, दलहन, फल एवं सब्जियों और दूध का रिकॉर्ड उत्पादन हो रहा है। हालांकि, उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं जिनसे किसानों की आय कम हो रही है और उनका नुकसान और खर्च बढ़ रहा है। 

मोदी ने कहा कि सरकार इन चुनौतियों से पार पाने के लिए समग्र प्रयास कर रही है। अब तक 11 करोड़ मृदा-स्वास्थ्य कार्ड वितरित किए जा चुके हैं। यूरिया की 100 प्रतिशत नीम कोटिंग से उत्पादकता बढ़ाने के साथ ही उर्वरक पर खर्च कम करने में सफलता मिली है। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर 25 कृषि विज्ञान केंद्रों का शिलान्यास किया और जैविक उत्पादों के लिए ई-मार्केटिंग पोर्टल की शुरुआत की।

Write a comment