1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. CBI ने 1,000 करोड़ रुपए के सिंडिकेट बैंक घोटाला मामले में आरोपपत्र दाखिल किए

CBI ने 1,000 करोड़ रुपए के सिंडिकेट बैंक घोटाला मामले में आरोपपत्र दाखिल किए

CBI ने फर्जी चैक तथा LIC पालिसी का उपयोग कर 1,000 करोड़ से अधिक के कथित घोटाला मामले में सिंडिकेट बैंक के पूर्व मुख्य प्रबंधक के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया।

Sachin Chaturvedi Sachin Chaturvedi
Updated on: June 14, 2016 22:05 IST
CBI ने 1,000 करोड़ रुपए के सिंडिकेट बैंक घोटाला मामले में आरोपपत्र किए दाखिल- India TV Paisa
CBI ने 1,000 करोड़ रुपए के सिंडिकेट बैंक घोटाला मामले में आरोपपत्र किए दाखिल

जयपुर। CBI ने फर्जी चैक, ऋण पत्र तथा LIC पॉलिसी का उपयोग कर 1,000 करोड़ रुपए से अधिक के कथित घोटाला मामले में सिंडिकेट बैंक के पूर्व मुख्य प्रबंधक और चार अन्य के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया है। CBI की विशेष अदालत में सिंडिकेट बैंक की उदयपुर शाखा के तत्कालीन मुख्य प्रबंधक एस के गुप्ता, उनकी पत्नी ऊषा, चार्टर्ड एकाउंटेंट भरत बांब, जयपुर के कारोबारी शंकर खंडेलवाल तथा एनजीओ चलाने वाले विपुल कौशिक के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया गया।

CBI ने कहा कि आरोपपत्र आपराधिक साजिश तथा धोखाधड़ी से संबद्ध भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत दाखिल किया गया है। जांच एजेंसी ने आरोप लगाया कि खंडेलवाल तथा बांब ने गुप्ता को फर्जी चेक डिस्काउंट के लिए देते थे। गुप्ता चेक का डिस्काउंट करके धन विभिन्न खातों में डाल देते थे, जबकि इसके लिए उनके पास जरूरी अधिकार नहीं थे। जांच में यह पाया गया कि कर्जों के एवज में एलआईसी की विभिन्न पॉलिसी गिरवी रखी गयी थीं, वे फर्जी थीं और उसे अलग-अलग मियाद तथा बीमा राशि के साथ विभिन्न नामों पर जारी किए गए थे।

सीबीआई ने इस संदर्भ में इस वर्ष मार्च में मामला दर्ज किया था। जांच एजेंसी ने इस मामले में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली, जयपुर तथा उदयपुर में 10 स्थानों की तलाशी ली थी। घोटाला 2011-16 तक चलता रहा और ऑडिट में नोटिस में नहीं आया।

यह भी पढ़ें- Syndicate Bank fraud: बैंक में 1000 करोड़ का घोटाला, सीबीआई ने छाप मार कई अधिकारियों पर दर्ज किया केस

यह भी पढ़ें- फंसा कर्ज बना सिंडीकेट बैंक के लिए मुसीबत, बैंक को हुआ 2,158 करोड़ रुपए का घाटा

Write a comment
bigg-boss-13