1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अगले महीने शुरू होगी देश की सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम नीलामी, 700 से 2300 मेगाहट्र्ज के लिए लगेंगी बोलियां

अगले महीने शुरू होगी देश की सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम नीलामी, 700 से 2300 मेगाहट्र्ज के लिए लगेंगी बोलियां

देश की सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम नीलामी 29 सितंबर से शुरू हो रही है। इस नीलामी में 5.63 लाख करोड़ रुपए की रेडियो तरंगों को बिक्री के लिए पेश किया जाएगा।

Sachin Chaturvedi Sachin Chaturvedi
Updated on: August 08, 2016 21:47 IST
अगले महीने शुरू होगी देश की सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम नीलामी, 700 से 2300 मेगाहट्र्ज के लिए लगेंगी बोलियां- India TV Paisa
अगले महीने शुरू होगी देश की सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम नीलामी, 700 से 2300 मेगाहट्र्ज के लिए लगेंगी बोलियां

नयी दिल्ली। देश की सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम नीलामी 29 सितंबर से शुरू हो रही है। आधार मूल्य के हिसाब से इस नीलामी में 5.63 लाख करोड़ रुपए की रेडियो तरंगों को बिक्री के लिए पेश किया जाएगा। दूरसंचार सचिव जे एस दीपक ने आवेदन आमंत्रित करने का नोटिस (एनआईए) जारी करते हुए कहा कि बिखराव और सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार के मुद्दों को हल करने के लिए बड़ी मात्रा में स्पेक्ट्रम को नीलामी के लिए रखा गया है और नियमों को बोलियां लगाने वालों के अनुकूल बनाया गया है।

तस्‍वीरों में देखिए कंपनियों के 4जी प्‍लांस

4G data plans airtel vodafone and idea

Untitled-3 (12)IndiaTV Paisa

Untitled-4 (9)IndiaTV Paisa

Untitled-5 (9)IndiaTV Paisa

Untitled-7 (3)IndiaTV Paisa

Untitled-6 (6)IndiaTV Paisa

यह भी पढ़ें- आगामी नीलामी में मिले स्‍पेक्‍ट्रम के लिए देना होगा तीन फीसदी प्रयोग शुल्क, कैबिनेट ने दी मंजूरी

सरकार सभी बैंड 700 मेगाहट्र्ज, 800 मेगाहट्र्ज, 900 मेगाहट्र्ज, 1800 मेगाहट्र्ज, 2100 मेगाहट्र्ज तथा 2300 मेगाहट्र्ज बैंड में कुल 2,354.55 मेगाहट्र्ज मोबाइल सेवा स्पेक्ट्रम बिक्री के लिए पेश करेगी। नीलामी के लिए रखे जाने वाले हर बैंड के स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल 4जी सेवाओं के लिए किया जा सकेगा। नीलामी के लिए पेश किए जाने वाले कुल स्पेक्ट्रम में से 197 मेगाहट्र्ज 1800 मेगाहट्र्ज बैंड तथा 37.5 मेगाहट्र्ज 800 मेगाहट्र्ज (सीडीएमए) बैंड में होगा। सरकार को चालू वित्त वर्ष में 2,354.55 मेगाहट्र्ज स्पेक्ट्रम की नीलामी से 64,000 करोड़ रुपए तथा दूरसंचार सेवाओं पर विभिन्न शुल्‍कों और सेवाओं से 98,995 करोड़ रुपए प्राप्त होने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें- जून में टेलीकॉम यूजर्स की संख्या 77.6 करोड़ के पार, जीएसएम ग्राहकों की संख्या 35 लाख बढ़ी

यह पहली बार है जबकि 700 मेगाहट्र्ज बैंड स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए रखा जा रहा है। इस बैंड को काफी महंगा माना जाता है। इसमें 3जी सेवाएं प्रदान करने की लागत 2100 मेगाहट्र्ज से एक-तिहाई बैठती है। यदि 700 मेगाहट्र्ज में समूचा स्पेक्ट्रम आधार मूल्य पर बिक जाता है तो इससे ही अकेले सरकार को चार लाख करोड़ रुपए का राजस्व मिलेगा। दूरसंचार विभाग 13 अगस्त को बोली पूर्व सम्मेलन आयोजित कर रहा है जिसमें एनआईए को लेकर चीजें साफ की जाएंगी।

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban