1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Q3 Results: भारती एयरटेल का मुनाफा 73% लुढ़का, हीरो मोटोकॉर्प का लाभ भी घटा

Q3 Results: भारती एयरटेल का मुनाफा 73% लुढ़का, हीरो मोटोकॉर्प का लाभ भी घटा

एयरटेल ने बयान में कहा कि समीक्षाधीन अवधि में उसकी कुल आय सिर्फ एक प्रतिशत बढ़कर 20,519 करोड़ रुपए रही, जो कि 2017-18 की तीसरी तिमाही में 20,319 करोड़ रुपए थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 31, 2019 23:40 IST
Airtel- India TV Paisa
Photo:AIRTEL

Airtel

नई दिल्‍ली। दूरसंचार बाजार में कड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच प्रमुख दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल का एकीकृत शुद्ध लाभ दिसंबर 2018 को समाप्त तीसरी तिमाही में 72 प्रतिशत लुढ़क कर करीब 86 करोड़ रुपए रहा। पिछले वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में उसका मुनाफा 306 करोड़ रुपए था। 

एयरटेल ने बयान में कहा कि समीक्षाधीन अवधि में उसकी कुल आय सिर्फ एक प्रतिशत बढ़कर 20,519 करोड़ रुपए रही, जो कि 2017-18 की तीसरी तिमाही में 20,319 करोड़ रुपए थी। कंपनी ने बताया कि भारत से आय 2018-19 की तीसरी तिमाही में सालाना आधार पर 2.3 प्रतिशत गिरकर 14,768 करोड़ रुपए रह गई। भारतीय मोबाइल श्रेणी में लगातार कीमत दबावों से मोबाइल सेवाओं से आय में सालाना आधार पर 4 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। 

चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में भारतीय परिचालन से घाटा (अपवाद स्वरूप चीजों से पहले) 971.9 करोड़ रुपए रहा, जबकि एक साल पहले की इसी अवधि में 373.5 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ था। कंपनी ने कहा कि उसको अफ्रीका से होने वाली आय में 11.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

हीरो मोटरकॉर्प का लाभ 4.5 प्रतिशत घटा

दोपहिया वाहन बनाने वाली देश की प्रमुख कंपनी हीरो मोटोकॉर्प ने 31 दिसंबर, 2018 को समाप्त तिमाही में 769.1 करोड़ रुपए का कर पश्चात एकल लाभ (पीएटी) दिखाया है जो एक साल पहले इसी अवधि से 4.5 प्रतिशत कम है। कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 805.43 करोड़ रुपए का पीएटी दिखाया था। 

समीक्षाधीन तिमाही में परिचालन से कुल आय 8,052.46 करोड़ रुपए की हुई, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 7,424.23 करोड़ रुपए थी। कंपनी के खर्चे 9.81 प्रतिशत बढ़ 6,914.04 करोड़ रुपए रहा, जो एक साल पहले 6,296.07 करोड़ रुपए था। आलोच्य तिमाही में कंपनी ने 17,98,905 वाहन बेचे जो 5.25 प्रतिशत वृद्धि दर्शाता हे। पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में बिक्री 17,09,107 थी। कंपनी के निदेशक मंडल ने दो रुपए अंकित मूल्य के शेयर पर 55 रुपए प्रति शेयर के अंतरिम लाभांश की घोषणा की है।

देना बैंक का घाटा कम हुआ 

सार्वजनिक क्षेत्र के देना बैंक का चालू वित्त वर्ष की दिसंबर, 2018 में समाप्त तीसरी तिमाही का शुद्ध घाटा कम होकर 178.47 करोड़ रुपए रह गया। डूबे कर्ज के लिए प्रावधान घटने से बैंक का घाटा कम हुआ है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक को 380 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। 

बैंक ने कहा है कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय घटकर 2,293 करोड़ रुपए रह गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 2,476 करोड़ रुपए थी। तिमाही के दौरान बैंक की शुद्ध गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) कुल ऋण का 10.44 प्रतिशत रह गईं, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 11.52 प्रतिशत थीं। 

हालांकि बैंक का सकल एनपीए बढ़कर सकल ऋण का 19.77 प्रतिशत हो गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 19.56 प्रतिशत था। मूल्य के हिसाब से बैंक का शुद्ध एनपीए घटकर 6,142.47 करोड़ रुपए रह गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 7,564.20 करोड़ रुपए था।

एनएमडीसी का शुद्ध मुनाफा बढ़ा

सरकारी खनन कंपनी एनएमडीसी ने कहा है कि दिसंबर 2018 को समाप्त तिमाही के दौरान उसका एकल शुद्ध मुनाफा 77.85 प्रतिशत बढ़कर 1,576.70 करोड़ रुपए हो गया। साल भर पहले की इसी तिमाही में कंपनी को 886.53 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफा हुआ था।

समीक्षाधीन तिमाही में कंपनी की कुल आय साल भर पहले के 2,580.17 करोड़ रुपए से बढ़कर 3,785.57 करोड़ रुपए हो गई। दिसंबर 2017 को समाप्त तिमाही में कंपनी का कुल खर्च पहले के 1,347.52 करोड़ के मुकाबले बढ़कर 1,574.10 करोड़ रुपए हो गया।

वेदांता का को हुआ 1574 करोड़ का शुद्ध लाभ

खनन क्षेत्र की प्रमुख कंपनी वेदांता लिमिटेड का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दिसंबर में समाप्त तिमाही में 25.54 प्रतिशत घटकर 1,574 करोड़ रुपए रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में कंपनी का एकीकृत शुद्ध लाभ 2,114 करोड़ रुपए था। 

कंपनी ने बताया कि समीक्षावधि में उसकी एकीकृत आय बढ़कर 25,067 करोड़ रुपए रही, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 24,842 करोड़ रुपए थी। इस दौरान कंपनी का एकीकृत व्यय 21,589 करोड़ रुपए रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 20,456 करोड़ रुपए था। 

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban