1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारती एयरटेल इंटरनेशनल ने कर्ज का बोझ कम करने के लिए उठाया कदम, खरीदेगी 1.5 अरब डॉलर के ऋण बांड

भारती एयरटेल इंटरनेशनल ने कर्ज का बोझ कम करने के लिए उठाया कदम, खरीदेगी 1.5 अरब डॉलर के ऋण बांड

भारती एयरटेल ने शनिवार को कहा कि वह अपना कर्ज कम करने के लिए अपनी सब्सिडियरी भारती एयरटेल इंटरनेशनल (नीदरलैंड्स) के जरिये 1.50 अरब डॉलर के ऋण पत्रों की समय पूर्व खरीद करेगी।

Edited by: India TV Paisa Desk [Updated:10 Nov 2018, 2:55 PM IST]
bharti airtel- India TV Paisa
Photo:BHARTI AIRTEL

bharti airtel

नई दिल्ली। टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल ने शनिवार को कहा कि वह अपना कर्ज कम करने के लिए अपनी सब्सिडियरी भारती एयरटेल इंटरनेशनल (नीदरलैंड्स) के जरिये 1.50 अरब डॉलर के ऋण पत्रों की समय पूर्व खरीद करेगी।  

कंपनी ने शेयर बाजार को दी एक जानकारी में बताया कि वह अपनी अनुषंगी भारती एयरटेल इंटरनेशनल (नीदरलैंड्स) के जरिये अपनी अफ्रीकी इकाई में छह वैश्विक निकायों से प्राप्त निवेश का इस्तेमाल कर यह खरीद करेगी। कंपनी ने कहा कि यह पेशकश पूंजी संरचना को सक्रियता से प्रबंधित करने, समग्र ऋण कम करने तथा बाजार के प्रीमियम के आधार पर नोटधारकों को तरलता प्रदान करने को ध्यान में रखकर की गई है। कंपनी ने कहा कि यह प्रक्रिया एयरटेल अफ्रीका के मौजूदा पांच अरब डॉलर के ऋण भार को कम करने के लिए है। 

भारती एयरटेल इंटरनेशनल (नीदरलैंड्स) की पैतृक कंपनी एयरटेल अफ्रीका लिमिटेड, जो भारती एयरटेल लिमिटेड की अनुषंगी है, ने हाल ही में छह वैश्विक निवेशकों से 1.25 अरब डॉलर का निवेश हासिल करने में सफलता पाई है। इन छह वैश्विक निवेशकों में वारबर्ग पिनकस, टेमासेक, सिंगटेल, सॉफ्टबैंक ग्रुप और अन्‍य शामिल हैं।

कंपनी ने कहा है कि वह टेंडर ऑफर के जरिये अपने नोट धारकों को मार्केट प्राइस से अधिक प्रीमियम पर तरलता उपलब्‍ध कराएगी। इस हफ्ते की शुरुआत में मूडीज इनवेस्‍टर्स सर्विस ने भारती एयरटेल की रेटिंग को कम कर दिया था, उसका मानना था कि कंपनी की लाभदायकता निम्‍न स्‍तर पर है और उसके पास कमजोर नकद प्रवाह है।

Web Title: Bharti Airtel International begins cash purchase of its USD 1.5 bn bonds to reduce debt | भारती एयरटेल इंटरनेशनल ने कर्ज का बोझ कम करने के लिए उठाया कदम, खरीदेगी 1.5 अरब डॉलर के ऋण बांड
Write a comment