1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Worst Services: दिल्‍ली में सबसे ज्‍यादा खराब हैं बैंकों की सर्विस, ATM और डेबिट कार्ड से लोग हैं परेशान

Worst Services: दिल्‍ली में सबसे ज्‍यादा खराब हैं बैंकों की सर्विस, ATM और डेबिट कार्ड से लोग हैं परेशान

आरबीआई द्वारा हाल ही में जारी ताजा रिपोर्ट के मुताबिक देश में सबसे ज्‍यादा बैंकिंग सेवाओं से संबंधित शिकायतें दिल्ली, मुंबई, कानपुर जैसे शहरों में होती हैं।

Abhishek Shrivastava [Updated:28 Nov 2015, 2:16 PM IST]
Worst Services: दिल्‍ली में सबसे ज्‍यादा खराब हैं बैंकों की सर्विस, ATM और डेबिट कार्ड से लोग हैं परेशान- India TV Paisa
Worst Services: दिल्‍ली में सबसे ज्‍यादा खराब हैं बैंकों की सर्विस, ATM और डेबिट कार्ड से लोग हैं परेशान

नई दिल्‍ली। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में बैंकों की सेवाएं सबसे ज्‍यादा खराब हैं। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा हाल ही में जारी ताजा रिपोर्ट के मुताबिक देश में सबसे ज्‍यादा बैंकों से संबंधित शिकायतें दिल्ली, मुंबई, कानपुर जैसे शहरों में होती हैं। रिपोर्ट के मुताबिक बैंक ग्राहक एटीएम, क्रेडिट और डेबिट कार्ड से संबंधित खराब सर्विस को लेकर सबसे ज्‍यादा शिकायत करते हैं। यही नहीं डिजिटल टेक्नोलॉजी के दौर में अभी भी शिकायत करने का तरीका काफी पारंपरिक है। कस्टमर्स सबसे ज्यादा पोस्ट के जरिए शिकायत कर रहे हैं।

दिल्‍ली में सबसे ज्‍यादा शिकायतें

आरबीआई की ताजा बैंकिंग लोकपाल रिपोर्ट के अनुसार वित्‍त वर्ष 2014-15 में बैंकों से संबंधित शिकायतों के मामले में 11 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोत्‍तरी हुई है। सबसे ज्यादा शिकायतें दिल्ली में हुई हैं। कुल शिकायतों में दिल्‍ली की हिस्‍सेदारी सबसे ज्‍यादा 17 फीसदी है। उसके बाद मुंबई की 12.27 फीसदी, कानपुर की 10.36 फीसदी, चेन्नई की 9.73 फीसदी और भोपाल की 2.88 फीसदी हिस्सेदारी है। रिपोर्ट के अनुसार 2014-15 में कुल 85,131 शिकायतें आई हैं, जबकि 2013-14 में 76,573 शिकायत आई थीं। सभी शिकायतें बैंकिंग लोकपाल ऑफिस के आधार पर ली गई हैं।

एटीएम, क्रेडिट व डेबिट कार्ड की शिकायतें ज्यादा

रिपोर्ट के अनुसार सबसे ज्‍यादा शिकायतें एटीएम, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड से संबंधित हैं, जिनकी कुल शिकायतों में 21.2 फीसदी हिस्सेदारी है। उसके बाद बैंकिंग कस्टमर्स को सबसे ज्यादा परेशानी पेंशन भुगतान, लोन, बैंकों द्वारा लिए जाने वाले चार्ज, डिपॉजिट अकाउंट में गड़बड़ी को लेकर रही हैं। इसके साथ बैंकों द्वारा फेयर प्रैक्टिस कोड को पूरी तरह से नहीं लागू करने संबंधी शिकायत मिली हैं।

पारंपरिक तरीके से हो रही है शिकायत

डिजिटल टेक्नोलॉजी के दौर में अभी भी बैंकों के खिलाफ कस्टमर बैंकिंग लोकपाल से शिकायत करने का तरीका जो अपना रहे हैं, वह पारंपरिक ही है। रिपोर्ट के अनुसार सबसे ज्यादा 65 फीसदी शिकायतें पोस्ट के जरिये की गई हैं। 23 फीसदी शिकायतें ई-मेल से प्राप्‍त हुई हैं। अच्छी बात यह है कि पिछले एक साल में ई-मेल के जरिये शिकायत करने के तरीके में 29 फीसदी का इजाफा हुआ है।

इंडीविजुअल ने की सबसे ज्यादा शिकायत

बैंकों की सर्विस से परेशान कस्टमर ज्यादातर इंडीविजुअल हैं। कुल शिकायतों में 92 फीसदी मामले इसी तरह के कस्टमर से संबंधित हैं। इसके बाद इंडीविजुअल रूप से बिजनेस करने वालों की संख्या है। वहीं कंपनियों, पीएसयू, सरकारी विभाग आदि की तरफ से भी काफी शिकायतें आई हैं।

एसबीआई के खिलाफ सबसे ज्यादा शिकायत

एसबीआई और उसके एसोसिएट्स बैंक के खिलाफ सबसे ज्यादा शिकायतें हैं। रिपोर्ट के अनुसार इन बैंकों की कुल शिकायतों में 9 फीसदी हिस्सेदारी है। इसके बाद बाकी सार्वजनिक बैंकों की हिस्सेदारी है, जो कि 18 फीसदी है। प्राइवेट बैंकों की कुल शिकायतों में 16 फीसदी हिस्सेदारी है। वहीं विदेशी बैंकों के खिलाफ शिकायतों में 32 फीसदी की कमी दर्ज की गई है।

Web Title: दिल्‍ली में बैंकिंग सेवाएं हैं सबसे ज्‍यादा खराब
Write a comment