1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. आर्सेलरमित्तल की कर्नाटक के इस्पात संयंत्र की जमीन पर सौर फार्म लगाने की योजना

आर्सेलरमित्तल की कर्नाटक के इस्पात संयंत्र की जमीन पर सौर फार्म लगाने की योजना

दुनिया की सबसे बड़ी इस्पात कंपनी आर्सेलरमित्तल ने कर्नाटक में अपनी 60 लाख टन की इस्पात परियोजनाओं के लिए आवंटित जमीन पर सौर फार्म लगाने की योजना बनाई है।

Dharmender Chaudhary Dharmender Chaudhary
Published on: February 26, 2017 15:10 IST
आर्सेलरमित्तल की कर्नाटक के इस्पात संयंत्र की जमीन पर सौर फार्म लगाने की योजना- India TV Paisa
आर्सेलरमित्तल की कर्नाटक के इस्पात संयंत्र की जमीन पर सौर फार्म लगाने की योजना

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी इस्पात कंपनी आर्सेलरमित्तल ने कर्नाटक में अपनी 60 लाख टन की इस्पात परियोजनाओं के लिए आवंटित जमीन पर सौर फार्म लगाने की योजना बनाई है। वैश्विक स्तर पर अधिशेष इस्पात क्षमता और कच्चा माल हासिल करने में विलंब की वजह से कंपनी यह कदम उठाने जा रही है।

कंपनी ने कर्नाटक सरकार के साथ 60 लाख टन का इस्पात संयंत्र, 750 मेगावाट का खुद के इस्तेमाल के लिए बिजली घर लगाने का करार किया है। इस पर 6.5 अरब डॉलर की लागत आएगी।

दुनिया की दिग्गज इस्पात कंपनी ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा, वैश्विक स्तर पर इस्पात की अधिशेष क्षमता और स्थानीय स्तर पर लौह अयस्क की उपलब्धता को लेकर अनिश्चितता की वजह से कंपनी कर्नाटक की जमीन का इस्तेमाल सौर उर्जा उत्पादन के लिए सौर फार्म लगाने के लिए करने पर विचार कर रही है।

आर्सेलरमित्तल ने किया भूमि अधिग्रहण

  • आर्सेलरमित्तल इंडिया को 2,659 एकड़ निजी भूमि के कब्जे के लिए प्रमाणपत्र मिल चुका है।
  • कंपनी ने दिसंबर, 2011 में 1,827 एकड़ और अक्तूबर, 2012 में 832 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया था।
  • शेष 136.33 एकड़ जमीन का स्वामित्व कर्नाटक सरकार के पास है जिसके आवंटन की प्रक्रिया चल रही है।
Write a comment
bigg-boss-13