1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अमूल ने मानी प्रधानमंत्री मोदी की सलाह, दिवाली पर लॉन्‍च होगा ऊंटनी का फ्लेवर्ड दूध

अमूल ने मानी प्रधानमंत्री मोदी की सलाह, दिवाली पर लॉन्‍च होगा ऊंटनी का फ्लेवर्ड दूध

प्रधानमंत्री मोदी की सलाह पर अमल करते हुए अमूल जल्‍द ही ऊंटनी के फ्लेवर्ड दूध को भारत में लॉन्‍च करने जा रहा है।

Written by: India TV Paisa Desk [Published on:07 Oct 2018, 6:07 PM IST]
camel milk- India TV Paisa

camel milk

नई दिल्‍ली। अमूल के नए चॉकलेट प्‍लांट के उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऊंटनी के दूध की खासियतें गिनाई थीं। प्रधानमंत्री मोदी की सलाह पर अमल करते हुए अमूल जल्‍द ही ऊंटनी के फ्लेवर्ड दूध को भारत में लॉन्‍च करने जा रहा है। इस साल दिवाली के मौके पर कंपनी अहमदाबाद के बाजार में पहली बार ऊंटनी के दूध को लॉन्‍च करेगी। शुरुआत में ऊंट के दूध को 500 मिली के पेट बॉटल में लॉन्च किया जाएगा​

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्‍सप्रेस की खबर के मुताबिक अमूल फिलहाल ऊंट के दूध से आने वाली एक अलग तरह की गंध को खत्‍म करने पर काम कर रही है। गंध मुक्‍त करने के साथ ही अमूल दूध को पीने के लिए और स्वादिष्ट बनाने की कोशिश भी कर रही है। आपको बता दें कि यह पहली बार होगा कि ऊंटनी का दूध भारत में मार्केट और वृहद स्‍तर पर बेचा जाएगा। अबतक सिर्फ राजस्थान, मध्यप्रदेश और गुजरात के कुछ इलाकों में स्थानीय तौर पर इस दूध को बेचा जाता है। विदेशों में पहले से ही यह काफी प्रचलित है।

वर्तमान में चॉकलेट बनाने के लिए अमूल कच्छ से आने वाले ऊंट के दूध को प्रोसेस करती है। वर्तमान में अमूल कंपनी 1 हजार से 1500 लीटर ऊंट का दूध कलेक्ट करती है। कंपनी इस बार ऊंटनी के दूध का कारोबार व्‍यवसायिक आधार पर शुरू करने पर काम कर रही है। दिसंबर 2018 तक एक दूध कॉरपोरेटिव यूनिट कच्छ में ऊंट के दूध की प्रोसेसिंग यूनिट शुरू कर देगी। ऊंट पालकों से यहां दूध पहुंचने के साथ ही इसे अहमदाबाद में बेचा जा सकेगा। वहीं भुज इलाके के पास बनने वाले ऊंट के दूध की प्रोसेसिंग यूनिट की क्षमता 20 हजार लीटर दूध प्रोसेस करने की होगी।

Web Title: अमूल ने मानी प्रधानमंत्री मोदी की सलाह, दिवाली पर लॉन्‍च होगा ऊंटनी का फ्लेवर्ड दूध
Write a comment
the-accidental-pm-300x100