1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 7th Pay Commission: आई खुशखबरी, दिसंबर में मिल सकती है बढ़ी हुई न्‍यूनतम सैलरी और फि‍टमेंट फैक्‍टर की वृद्धि

7th Pay Commission: आई खुशखबरी, दिसंबर में मिल सकती है बढ़ी हुई न्‍यूनतम सैलरी और फि‍टमेंट फैक्‍टर की वृद्धि

न्‍यूनतम सैलरी में बढ़ोतरी और फि‍टमेंट फैक्‍टर का इंतजार दिसंबर में खत्‍म हो सकता है। एनएसी अपनी रिपोर्ट तैयार कर चुकी है और जल्‍द ही इसे पेश करेगी।

Abhishek Shrivastava Abhishek Shrivastava
Published on: November 18, 2017 16:12 IST
7th Pay Commission: आई खुशखबरी, दिसंबर में मिल सकती है बढ़ी हुई न्‍यूनतम सैलरी और फि‍टमेंट फैक्‍टर की वृद्धि- India TV Paisa
7th Pay Commission: आई खुशखबरी, दिसंबर में मिल सकती है बढ़ी हुई न्‍यूनतम सैलरी और फि‍टमेंट फैक्‍टर की वृद्धि

नई दिल्‍ली। न्‍यूनतम सैलरी में बढ़ोतरी और फि‍टमेंट फैक्‍टर का इंतजार दिसंबर में खत्‍म हो सकता है। राष्‍ट्रीय विसंगति कमेटी (एनएसी) इस मुद्दे पर अपनी रिपोर्ट तैयार कर चुकी है और जल्‍द ही इसे सरकार के समक्ष पेश करने की योजना है। कुल 48 लाख केंद्र सरकार के कर्मचारी पिछले पांच महीनों से 7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक न्‍यूनतम सैलरी और फि‍टमेंट फैक्‍टर मिलने का इंतजार कर रहे हैं।

कई मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 22 सदस्‍यीय एनएसी कमेटी वेतन वृद्धि पर अपनी रिपोर्ट 15 दिसंबर 2017 को पेश करेगी, जिसे बाद में केंद्रीय मंत्रिमंडल के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। सरकारी कर्मचारी इस बात की उम्‍मीद कर रहे हैं कि उनकी न्‍यूनतम सैलरी मौजूदा 18,000 रुपए से बढ़कर 21,000 रुपए हो जाएगी और फि‍टमेंट फैक्‍टर मौजूदा 2.57 गुना से बढ़कर 3.00 गुना हो जाएगा।

केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा एनएसी की न्‍यूनतम वेतन पर सिफारिशों को मंजूरी मिलने के बाद इसके अगले साल एक अप्रैल से लागू होने की उम्‍मीद है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 28 जून को 7सीपीसी के तहत अन्‍य सिफारिशों के साथ ही न्‍यूनतम वेतन को 7,000 से बढ़ाकर 18,000 रुपए प्रति माह करने और फि‍टमेंट फैक्‍टर को 2.57 गुना करने को अपनी मंजूरी दी थी। हालांकि, कर्मचारियों ने जून में मंजूर हुई सिफारिशों के प्रति अपनी असंतुष्टि जताते हुए सरकार से मांग की थी कि 7सीपीसी के तहत न्‍यूनतम वेतन को 18,000 से बढ़ाकर 26,000 रुपए प्रति माह और फि‍टमेंट फैक्‍टर को बढ़ाकर 3.68 गुना किया जाए।

वित्‍त मंत्रालय सूत्रों ने संकेत दिया है कि मुद्रास्‍फीति को देखते हुए वेतन वृद्धि आवश्‍यक है और इसलिए इस संबंध में एनएसी द्वारा की गई सिफारिशों को स्‍वीकार करने का निर्णय लिया गया है। वहीं रोचक बात यह है कि सरकार के आर्थिक सलाहकार संशोधित न्‍यूनतम वेतन पर एरियर को खत्‍म करने पर विचार कर रहे हैं, जो सरकारी खजाने पर अतिरिक्‍त बोझ डाल सकते हैं।

Write a comment