1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच करेगी आधार मामले पर सुनवाई, बहुत सारे लोगों ने इस योजना को बताया नुकसानदेह

सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच करेगी आधार मामले पर सुनवाई, बहुत सारे लोगों ने इस योजना को बताया नुकसानदेह

आधार के खिलाफ याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच 17 जुलाई से सुनवाई करेगी। देश के चीफ जस्टिस जे एस खेहर ने बुधवार को इस संदर्भ में संकेत दिया।

Khabarindiatv Paisa Desk [Updated:13 Jul 2017, 11:18 AM IST]
सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच करेगी आधार मामले पर सुनवाई, बहुत सारे लोगों ने इस योजना को बताया नुकसानदेह- India TV Paisa
सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच करेगी आधार मामले पर सुनवाई, बहुत सारे लोगों ने इस योजना को बताया नुकसानदेह

नई दिल्‍ली। बैंक खाते, सरकारी सब्सिडी से लेकर मोबाइल फोन के कनेक्‍शन तक के लिए जरूरी आधार योजना को नुकसानदेह मानने वाले कुछ लोगों ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। इकॉनोमिक टाइम्‍स की एक रिपोर्ट के अनुसार, इन याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच 17 जुलाई से सुनवाई करेगी। देश के चीफ जस्टिस जे एस खेहर ने बुधवार को इस संदर्भ में संकेत दिया। बेंच इस बात पर विचार करेगी कि इस योजना को अनिवार्य बनाना एक नागरिक के प्राइवेसी के अधिकार का उल्लंघन है या नहीं।

यह भी पढ़ें : 500 और 1000 के पुराने नोट गिनने के लिए RBI ने कर्मचारियों की छुट्टुियां कम की, उर्जित पटेल ने दी जानकारी

आपको बता दें के बहुत से लोग ऐसे हैं जिनके हिसाब से आधार योजना नुकसानदेह है। ऐसे लोगों के अनुसार यह निजी जीवन में अनचाही घुसपैठ करती है। इस योजना से नाखुश लोगों का मानना है कि आधार के जरिए नागरिकों से एकत्र किए गए बायोमेट्रिक्‍स डाटा ऐसे राज्‍य तंत्र की याद ताजा करते हैं जिसमें नागरिकों को ऐ नंबर देकर हर समय उनकी निगरानी की जाती थी।

यह भी पढ़ें : लीक हुआ Reliance Jio का ब्रॉडबैंड प्लान, 3 महीने के लिए मुफ्त होगा 100mbps की स्पीड से 100GB डाटा

आधार योजना को उस समय चुनौती दी गई थी, जब एक एग्जिक्यूटिव ऑर्डर के जरिए इसे अनिवार्य बनाया गया था। इसके बाद से इसे वैधानिक समर्थन मिला है। संसद ने एक कानून पास किया था जिसे एक्टिविस्ट्स और कुछ अन्य लोगों ने चुनौती दी है। सरकार का कहना है कि सार्वजनिक योजनाओं में गड़बड़ियों को रोकने के लिए यह योजना जरूरी है। इससे गरीबी रेखा से नीचे (BPL) रहने वाले करोड़ों लोगों को फायदा होगा।

इकॉनोमिक टाइम्‍स की रिपोर्ट के अनुसार, इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच विचार करेगी। अगर जरूरी हुआ तो इसे नौ जजों की एक बड़ी बेंच के पास भेजा जाएगा। आधार का विरोध करने वालों ने इस योजना के जरिए नागरिकों से एकत्र किए गए इंडीविजुअल डाटा की सुरक्षा को लेकर भी आशंका जताई है। उनका कहना है कि प्राइवेट एजेंसियों को डाटा जुटाने का काम देने से इसकी सुरक्षा सुनिश्चित नहीं है।

Web Title: सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच करेगी आधार मामले पर सुनवाई
Write a comment