1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 2022 तक होगा 115 पिछड़े जिलों का होगा कायापलट, प्रत्‍येक जिले का कार्यभार संभालेंगे सचिव स्‍तर के अधिकारी

2022 तक होगा 115 पिछड़े जिलों का होगा कायापलट, प्रत्‍येक जिले का कार्यभार संभालेंगे सचिव स्‍तर के अधिकारी

सरकार ने कहा कि देशभर में 115 जिलों को चिह्न्ति किया गया है, जिनका अगले पांच साल में यानी 2022 तक कायापलट किया जाएगा।

Manish Mishra Manish Mishra
Published on: November 25, 2017 13:15 IST
2022 तक होगा 115 पिछड़े जिलों का होगा कायापलट, प्रत्‍येक जिले का कार्यभार संभालेंगे सचिव स्‍तर के अधिकारी- India TV Paisa
2022 तक होगा 115 पिछड़े जिलों का होगा कायापलट, प्रत्‍येक जिले का कार्यभार संभालेंगे सचिव स्‍तर के अधिकारी

नई दिल्ली केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कहा कि देशभर में 115 जिलों को चिह्न्ति किया गया है, जिनका अगले पांच साल में यानी 2022 तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘न्यू इंडिया’ के विजन के अनुरूप कायापलट किया जाएगा। सरकार की ओर से जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि अतिरिक्त सचिव व संयुक्त सचिव स्तर के वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों को प्रत्येक जिले का प्रभारी नामांकित किया गया है।

कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा की अध्यक्षता में शुक्रवार को विस्तृत विवरण पेश किया गया, जिसमें केंद्र सरकार के महत्वपूर्ण मंत्रालयों के सचिव उपस्थित थे। अपने मुख्य भाषण में सिन्हा ने विश्वास जताया कि नामांकित अधिकारी अपनी चुनौती स्वीकार करेंगे और अपने उद्देश्य में कामयाबी हासिल करेंगे।

इन जिलों में लाखों लोगों के जीवन में बदलाव लाने के लिए एक अहम पहल बताते हुए उन्होंने प्रभारी अधिकारियों को तत्काल राज्यों के प्रतिनिधियों के साथ एक टीम बनाने और अपने प्रयासों में समानता लाने की सलाह दी।

नीति आयोग के सीईओ अभिताभ कांत ने इस बात पर जोर दिया कि मानव विकास सूचकांक में सुधार के लिए इन पिछड़े जिलों का कायापलट जरूरी है। गृह सचिव राजीव गौबा ने कहा कि अगर इन जिलों का कायापलट होता है तो उससे देश में सुरक्षा के माहौल में व्यापक सुधार होगा।

यह भी पढ़ें : सीमित दायित्व की अवधारणा के प्रतिकूल जा सकता है उच्चतम न्यायालय का हालिया आदेश: फिक्की

यह भी पढ़ें : सरकार ने अक्षय ऊर्जा उत्पादन बढ़ाने का पेश किया खाका, 2022 तक क्षमता 2 लाख मेगावाट तक पहुंचने का अनुमान

Write a comment