1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. टाटा मोटर्स ने ईईएसएल को सौंपी इलेक्ट्रिक टिगोर की पहली खेप, कंपनी को मिला है 10 हजार कारों का ठेका

टाटा मोटर्स ने ईईएसएल को सौंपी इलेक्ट्रिक टिगोर की पहली खेप, कंपनी को मिला है 10 हजार कारों का ठेका

भारत सरकार की 10,000 इलेक्ट्रिक वाहन खरीद योजना के तहत टाटा मोटर्स ने अपनी इलेक्ट्रिक कार टिगोर ईवी की पहली खेप आज सार्वजनिक क्षेत्र की एनर्जी एफि‍शियंसी सर्विसेस लिमिटेड (ईईएसएल) को सौंप दी है।

Abhishek Shrivastava Abhishek Shrivastava
Updated on: December 15, 2017 14:02 IST
tigor ev- India TV Paisa
tata motors tigor ev

नई दिल्‍ली। भारत सरकार की 10,000 इलेक्ट्रिक वाहन खरीद योजना के तहत टाटा मोटर्स ने अपनी इलेक्ट्रिक कार टिगोर ईवी की पहली खेप आज सार्वजनिक क्षेत्र की एनर्जी एफि‍शियंसी सर्विसेस लिमिटेड (ईईएसएल) को सौंप दी है। टाटा मोटर्स ने अक्रामक बोली के जरिये एल1 बोलीदाता के रूप में सरकार से यह ठेका हासिल किया है। ईईएसएल ने सितंबर 2017 में 10,000 इलेक्ट्रिक कारों को खरीदने के लिए अंतरराष्‍ट्रीय टेंडर जारी किया था।

पहले चरण में टाटा मोटर्स को 30 दिसंबर 2017 तक 250 टिगोर ईवी ईईएसल को उपलब्‍ध करानी हैं। 10,000 कारों के इस टेंडर में करीब 30 प्रतिशत कारों की आपूर्ति महिंद्रा द्वारा की जाएगी। महिंद्रा अपनी ई-वेरीटो की आपूर्ति लगभग एक महीने बाद शुरू करेगी। टाटा मोटर्स के सीईओ और एमडी गुंटेर बुश्‍चेक ने टिगोर ईवी की चाबियां ईईएसएल के प्रबंध निदेशक सौरभ कुमार को सौंपते हुए कहा कि 10,000 इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने की सरकार की यह पहल देश में हरित व टिकाऊ परिवहन समाधान को बढ़ावा दिए जाने की दिशा में एक साहसी कदम है। 

उन्होंने कहा कि टिगोर ईवी के साथ कंपनी ने ई-मोबिलिटी को बल देने की दिशा में यात्रा शुरू की है। कंपनी भारतीय ग्राहकों को इलेक्ट्रिक वाहनों की पूरी रेंज की पेशकश करेगी। टाटा टिगोर ईवी एक चार्ज पर 140 किलोमीटर तक चलेगी। ईईएसएल के टेंडर में टाटा मोटर्स ने बिना जीएसटी के सबसे कम बोली 10.16 लाख रुपए लगाई थी। ईईएसएल को यह कार जीएसटी के साथ 11.2 लाख रुपए में पांच साल की वारंटी के साथ उपलब्‍ध कराई जाएगी। जो कि बाजार में मौजूद समान ई-कार की तुलना में 25 प्रतिशत सस्‍ती है।  

टाटा मोटर्स भारत में ऐसी दूसरी ऑटो कंपनी है जिसने इलेक्ट्रिक कार का निर्माण शुरू किया है। इससे पहले केवल महिंद्रा अकेली ऐसी कंपनी थी जो इलेक्ट्रिक कार का निर्माण कर रही थी। टाटा मोटर्स अब भविष्‍य में सरकार के सभी टेंडर में भाग लेगी।

Write a comment