1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. मारुति ने फरवरी में उत्पादन आठ प्रतिशत घटाया, शेयर में आई 3 प्रतिशत की गिरावट

मारुति ने फरवरी में उत्पादन आठ प्रतिशत घटाया, शेयर में आई 3 प्रतिशत की गिरावट

कंपनी ने बताया कि उसके यात्री वाहनों अल्टो, स्विफ्ट, डिजायर और विटारा ब्रेजा का उत्पादन फरवरी में 8.4 प्रतिशत घटकर 1,47,550 इकाई पर आ गया

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: March 18, 2019 19:29 IST
Maruti Suzuki India- India TV Paisa
Photo:MARUTI SUZUKI INDIA

Maruti Suzuki India

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कार विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने कमजोर मांग के चलते फरवरी में अपना उत्पादन आठ प्रतिशत घटाया है। इस खबर के आने के बाद मारुति सुजुकी इंडिया का शेयर लगभग तीन प्रतिशत टूट गया। बीएसई पर मारुति का शेयर 2.56 प्रतिशत कमजोर होकर 6,910.35 रुपए पर बंद हुआ। इंट्रा-डे में यह 4.39 प्रतिशत टूटर 6,780.20 रुपए तक गिरा।

कंपनी ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि मारुति ने फरवरी में सुपर कैरी एलसीवी सहित कुल 1,48,959 वाहनों का उत्पादन किया, जो पिछले साल के इसी महीने के 1,62,524 इकाइयों के उत्पादन से 8.3 प्रतिशत कम है। 

कंपनी ने बताया कि उसके यात्री वाहनों अल्टो, स्विफ्ट, डिजायर और विटारा ब्रेजा का उत्पादन फरवरी में 8.4 प्रतिशत घटकर 1,47,550 इकाई पर आ गया, जो फरवरी, 2018 में 1,61,116 इकाई था। हालांकि, पिछले महीने कंपनी की वैन ईको, ओमनी का उत्पादन 22.1 प्रतिशत बढ़कर 16,898 इकाई पर पहुंच गया, जो इससे पिछले साल के इसी महीने में 13,827 इकाई था। माह के दौरान सुपर कैरी एलसीवी का उत्पादन मात्र एक इकाई बढ़ा। 

इस बारे में संपर्क करने पर कंपनी ने उत्पादन कटौती की वजह नहीं बताई। जनवरी में मारुति सुजुकी ने कुल 1,83,064 वाहनों का उत्पादन किया था, जो जनवरी, 2018 के मुकाबले 15.6 प्रतिशत अधिक रहा है। जनवरी में यात्री वाहनों का उत्पादन 14.3 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1,78,459 इकाई रहा था जो एक साल पहले इसी महीने में 1,56,168 इकाई रहा था। 

मारुति सुजूकी का फरवरी माह में घरेलू वाहन बिक्री 0.9 प्रतिशत घटकर 1,39,000 वाहन रहा जो कि एक साल पहले इसी माह में 1,37,000 वाहनों का रहा। हालांकि, कंपनी ने इससे पहले जनवरी माह में वाहन बिक्री में 1.1 प्रतिशत वृद्धि बताई और उसने 1,42,150 वाहनों की बिक्री की। 

Write a comment