1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. दुपहिया वाहनों की बिक्री में 10-12 फीसदी इजाफे की उम्मीद, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू से बढ़ेगी बिक्री

दुपहिया वाहनों की बिक्री में 10-12 फीसदी इजाफे की उम्मीद, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू से बढ़ेगी बिक्री

आगामी त्यौहारी मौसम को देखते हुए रेटिंग एजेंसी इक्रा ने वर्तमान वित्त वर्ष में दुपहिया वाहनों की बिक्री में 10-12 फीसदी बढ़ोतरी होने की उम्मीद जताई है।

Dharmender Chaudhary [Published on:27 Sep 2016, 6:50 PM IST]
दुपहिया वाहनों की बिक्री में 10-12 फीसदी इजाफे की उम्मीद, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू से बढ़ेगी बिक्री- India TV Paisa
दुपहिया वाहनों की बिक्री में 10-12 फीसदी इजाफे की उम्मीद, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू से बढ़ेगी बिक्री

नई दिल्ली। आगामी त्यौहारी मौसम को देखते हुए रेटिंग एजेंसी इक्रा ने वर्तमान वित्त वर्ष में दुपहिया वाहनों की बिक्री में 10-12 फीसदी बढ़ोतरी होने की उम्मीद जताई है। दुपहिया वाहनों की बिक्री बढ़ने के पीछे इक्रा ने कई कारण बताए हैं जिनमें सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू होना और एक रैंक एक पेंशन जैसी योजना की महत्वपूर्ण भूमिका है।

मानसून अच्छा से भी बिक्री को मिलेगा सहारा

  • रिपोर्ट में कहा है कि इस साल मानसून अच्छा रहने से खरीफ की फसल बेहतर होने की उम्मीद है।
  • इसकी वजह से ग्रामीण नकदी बढ़ेगी और दुपहिया वाहनों की बिक्री बढ़ने की उम्मीद है।
  • रिपोर्ट के मुताबिक वर्तमान वित्त वर्ष में इस श्रेणी में 10-12 फीसदी बढ़ोतरी होने की उम्मीद है।
  • इस वित्त वर्ष के शुरू के पांच महीनों में इस घरेलू दुपहिया वाहन उद्योग ने 16.5 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की है।
  • अभी से ही ग्रामीण मांग बढ़ने के संकेत दिखाई देने लगे हैं।

राजस्थान कारखाने में उत्पादन क्षमता से उपर चल रहा है: होंडा मोटर साइकिल एंड स्कूटर्स

देश की दूसरी सबसे बड़ी दुपहिया वाहन निर्माता कंपनी होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर्स इंडिया ने कंपनी के कुछ बर्खास्त किए गए श्रमिकों के इस दावे का खंडन किया है राजस्थान के टपूकड़ा में उसके कारखानों में श्रमिक अशांति की वजह से उत्पादन गिर गया है। उल्टे कंपनी का दावा है कि इस कारखाने में इस समय उत्पादन क्षमता से उंचे स्तर पर चल रहा है।

कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं निदेशक (आम और कॉरपोरेट मामले) हरभजन सिंह ने कहा, पहले तो टपूकड़ा संयंत्र में उत्पादन में किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है। इसलिए कंपनी के कुछ बर्खास्त किए गए कर्मचारियों का यह दावा तथ्यात्मक रूप से गलत है कि वहां उत्पादन प्रभावित हुआ है। वास्तव में वहां हम इस समय अपनी उत्पादन क्षमता से अधिक उत्पादन कर रहे हैं। ऐसे कर्मचारियों द्वारा उत्पादन प्रभावित होने का दावा करने का कोई हक नहीं है क्योंकि वे इस साल फरवरी के पहले सप्ताह में हमारी कंपनी के कर्मचारी रह गए हैं।

Web Title: दुपहिया वाहनों की बिक्री में 10-12 फीसदी इजाफे की उम्मीद
Write a comment