1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. फोर्ड ने किया 5,397 EcoSport को रिकॉल, स्‍टीयरिंग कंट्रोल और सीट रेकलाइनर लॉक्‍स में है खराबी

फोर्ड ने किया 5,397 EcoSport को रिकॉल, स्‍टीयरिंग कंट्रोल और सीट रेकलाइनर लॉक्‍स में है खराबी

अमेरिकी कार निर्माता कंपनी फोर्ड ने अपनी एसयूवी ईकोस्‍पोर्ट की 5,397 यूनिट को रिकॉल किया है। कंपनी ने कहा है कि इन वाहनों के स्‍टीयरिंग कंट्रोल और सीट रेकलाइनर लॉक्‍स में कुछ खराबी है, जिसे ठीक करने के लिए इन गाडि़यों को वापस बुलाया गया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: July 06, 2018 18:30 IST
ford ecosport- India TV Paisa
Photo:FORD ECOSPORT

ford ecosport

नई दिल्‍ली। अमेरिकी कार निर्माता कंपनी फोर्ड ने अपनी एसयूवी ईकोस्‍पोर्ट की 5,397 यूनिट को रिकॉल किया है। कंपनी ने कहा है कि इन वाहनों के स्‍टीयरिंग कंट्रोल और सीट रेकलाइनर लॉक्‍स में कुछ खराबी है, जिसे ठीक करने के लिए इन गाडि़यों को वापस बुलाया गया है।

कंपनी ने एक बयान में कहा है कि फोर्ड इंडिया ने फ्रंट लोअर कंट्रोल आर्म के लिए अपने चेन्‍नई संयंत्र में मई 2017 से जून 2017 के बीच निर्मित 4,379 ईकोस्‍पोर्ट वाहनों का स्‍वेच्‍छा से निरीक्षण किया है। कुछ वाहनों में वेल्‍ड की मजबूती फोर्ड के मापदंडों से निम्‍न स्‍तर की हो सकती है, जिससे कुछ दुर्लभ मामलों में संभावित रूप से स्‍टीयरिंग कंट्रोल प्रभावित हो सकता है।

कंपनी ने नवंबर 2017 से लेकर दिसंबर 2017 के दौरान निर्मित 1018 ईकोस्‍पोर्ट वाहन के मालिकों को भी पत्र लिखकर अपनी कार के ड्राइवर और फ्रंट पैसेंजर सीट रेकलाइनर लॉक्‍स की जांच करवाने के लिए कहा है। स्‍वेच्छा परीक्षण कंपनी की उस प्रतिबद्धता के अनुरूप है, जिसमें कंपनी ने अपने उपभोक्‍तओं को विश्‍व स्‍तरीय गुणवत्‍ता वाले उत्‍पाद पेश करने की बात कही है।

मई 2016 में कंपनी ने दो बार स्‍वेच्‍छा से सुरक्षा रिकॉल किया था, जिसमें कुछ ईकोस्‍पोर्ट वाहनों में संभावित त्रुटि का सुधार किया जाना था। पहले रिकॉल में अप्रैल 2013 से जून 2014 के बीच निर्मित लगभग 48,000 ईकोस्‍पोर्ट डीजल वाहनों को कवर किया गया था। इन वाहनों के फ्यूल और ब्रेक लाइन में नए बंडल क्लिप लगाए गए थे। दूसरे रिकॉल में लगभग 700 ईकोस्‍पोर्ट वाहनों को कवर किया गया था, जो जनवरी 2016 से फरवरी 2016 के बीच बने थे और जिनमें 60/40 रिअर फोल्डिंग सीट दी गई थी।

Write a comment