1. You Are At:
  2. होम
  3. लाइफस्टाइल
  4. सेक्स और रिश्ते
  5. हफ़्ते में एक बार ही बार सेक्स काफी है सुखद जीवन के लिये

हफ़्ते में एक बार ही बार सेक्स काफी है सुखद जीवन के लिये

कहा जाता है कि सेक्स सुखद वैवाहिक जीवन का सूत्र है। लेकिन अक़्सर ये भी पूछा जाता है कि आख़िर कितना सेक्स किया जाये कि जीवन ख़ुशियों से भर जाये। वैज्ञानिकों ने इस सवाल को

India TV News Desk [Updated:23 Nov 2015, 5:20 PM IST]
हफ़्ते में एक बार ही...- India TV
हफ़्ते में एक बार ही बार सेक्स काफी है सुखद जीवन के लिये

कहा जाता है कि सेक्स सुखद वैवाहिक जीवन का सूत्र है। लेकिन अक़्सर ये भी पूछा जाता है कि आख़िर कितना सेक्स किया जाये कि जीवन ख़ुशियों से भर जाये। वैज्ञानिकों ने इस सवाल को जवाब खोज निकाला है।

सोशल सायकोलॉजिकल एण्ड पर्सनेलिटी साइंस में प्रकाशित एक शोध के अनुसार हफ़्ते में एक बार सेक्स करने से दाम्पत्य जीवन सुखी रहता है लेकिन इससे ज़्यादा सेक्स करने से ऐसा नहीं होता कि खुशी और बढ़ जाये यानी कोई फ़र्क नहीं पड़ता।

टोरंटो यूनिवर्सिटी की सामाजिक मनोवैज्ञानिक एमी मूइस ने एक रिसर्च दल के साथ इस विषय पर शोध किया है। शोध के दौरान 25,510 लोगों से बात की गई तो ये नतीजा निकला कि सप्ताह में एक बार सेक्स करने का सुखी जीवन से संबंध है। इसके बाद अलग तरह के दो और अध्ययन किये गये और हर बार ये बात सामने आई कि सेक्स और सुख का सप्ताह में एक बार सेक्स करने से गहरा संबंध है।

बहरहाल इस अध्ययन से उन लोगों को तो राहत मिलेगी ही जिन पर ज़्यादा सेक्स करने का दबाव रहता है। ये मांग उन दंपत्तियों के लिये बहुत भारी पड़ जाती है जो नौकरी करते हैं, बच्चे पालते और दूसरी जिम्मेदारियां निभाते हैं।

इस साल प्रकाशित किताब The Sex Myth: The Gap Between Our Fantasies and Reality, में कहा गया है कि समाज में ये ग़लत धारणा बन गई है कि हर कोई लगातार सेक्स कर रहा है। “हम उस संस्कृति, जिसमें सेक्स को गंदा बताया गया था, से निकलर इस संस्कृति में आ गए है जहां कहा जाता है कि अगर आप ज़्यादा सेक्स नहीं करते तो इसका मतलब है आप में कोई गड़बड़ है।”

 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Sex and relationship News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Web Title: हफ़्ते में एक बार ही बार सेक्स काफी है सुखद जीवन के लिये
Write a comment