1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. 11 मई को सूर्य कर रहा है कृतिका नक्षत्र में प्रवेश, इन नाम के लोग रहें संभलकर

11 मई को सूर्य कर रहा है कृतिका नक्षत्र में प्रवेश, इन नाम के लोग रहें संभलकर

आज वैशाख शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि और शनिवार का दिन है। इसके साथ ही आज रात 12 बजकर 08 मिनट पर सूर्यदेव कृतिका नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। अत: सूर्य के कृतिका नक्षत्र में प्रवेश करने से विभिन्न नामाक्षर और नक्षत्र वाले लोगों पर क्या प्रभाव होगा

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Published on: May 10, 2019 13:47 IST
Sun transit krittika nakshatra on 11 may 2019 - India TV
Sun transit krittika nakshatra on 11 may 2019

धर्म डेस्क: आज वैशाख शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि और शनिवार का दिन है। इसके साथ ही आज रात 12 बजकर 08 मिनट पर सूर्यदेव कृतिका नक्षत्र में प्रवेश करेंगे और 25 मई को रात 08 बजकर 26 मिनट तक सूर्यदेव यहीं पर रहेंगे। अत: सूर्य के कृतिका नक्षत्र में प्रवेश करने से विभिन्न नामाक्षर और नक्षत्र वाले लोगों पर क्या प्रभाव होगा और उस स्थिति में आपको कौन-से उपाय करने चाहिए। जानें आचार्य इंदु प्रकाश से।

कृतिका, रोहिणी या मृगशिरा नक्षत्र में जन्मे लोग

जिन लोगों का जन्म कृतिका, रोहिणी या मृगशिरा नक्षत्र में हुआ है और जिनका नाम अ, ई, उ, ए, व, या क अक्षर से शुरू होता है, उन लोगों को 25 मई तक आग और बिजली से संबंधित चीजों के साथ संभलकर काम करना चाहिए। आपको इस दौरान गैस, चूल्हा और बिजली के तार आदि का ध्यानपूर्वक इस्तेमाल करना चाहिए। साथ ही अगर आप इस दौरान कोई नया घर बनाने की सोच रहे हैं, तो आपको 25 मई तक के लिए अपनी ये योजना टाल देनी चाहिए। इसके साथ ही सूर्यदेव की अशुभ स्थिति से बचने के लिए और शुभ फलों की प्राप्ति के लिए चिड़ियों को दाना खिलाएं। इससे आपको अशुभ फलों से छुटकारा मिलेगा और शुभ फलों की प्राप्ति होगी।

ये भी पढ़े- आज शाम शुक्र कर रहा है मेष राशि में प्रवेश, मेष से लेकर तुला राशि तक के जातक रहें संभलकर

आर्द्रा, पुनर्वसु, पुष्य या आश्लेषा नक्षत्र में जन्मे लोग
जिनका जन्म आर्द्रा, पुनर्वसु, पुष्य या आश्लेषा नक्षत्र में हुआ है और जिनके नाम का पहला अक्षर क, घ, छ, ह या ड है, 25 मई तक के लिए उन लोगों के जीवन की गति कुछ थमी हुई सी रहेगी। आपके काम कुछ समय के लिए अटक सकते हैं। अत: अपने कामों को अटकने से बचाने के लिए और अपने जीवन की गति को तेज करने के लिए  घर में पीतल के बर्तनों को उपयोग में लाएं। इससे आपके कामों की गति बनी रहेगी।

ये भी पढ़ें- मासिक राशिफल, मई 2019: मेष से मीन तक, शनि, सू्र्य सहित कई ग्रह कर रहे है राशिपरिवर्तन, जानें अपनी राशि पर असर

मघा, पूर्वाफाल्गुनी, उत्तराफाल्गुनी या हस्त नक्षत्र में जन्मे लोग
जिन लोगों का जन्म मघा, पूर्वाफाल्गुनी, उत्तराफाल्गुनी या हस्त नक्षत्र में हुआ है और जिनके नाम का पहला अक्षर म, ट या प है, 25 मई तक उन लोगों के सभी कामों में स्थिरता बनी रहेगी। 25 मई तक आपकी सफलता स्थायी रूप से बनी रहेगी। अत: अपने जीवन में इस स्थिरता को बनाये रखने के लिए काली गाय की सेवा करें। साथ ही अपने बड़े भाई का हर काम में सहयोग करें। इससे आपके कामों में और आपके जीवन में स्थिरता बनी रहेगी।

चित्रा, स्वाती या विशाखा नक्षत्र में जन्मे लोग
जिनका जन्म चित्रा, स्वाती या विशाखा नक्षत्र में हुआ है और जिनका नाम प, र या त अक्षर से शुरू होता है, उन लोगों को 25 मई तक मां लक्ष्मी की कृपा बरसेगी| आपके ऊपर अगले पंद्रह दिनों के दौरान देवी लक्ष्मी की अपार कृपा बरसेगी। इस दौरान आपको धन-दौलत की प्राप्ति होती रहेगी। अतः 25 मई तक अपने ऊपर माँ लक्ष्मी की कृपा बनाये रखने के लिए रात को अपने सिरहाने पर 5 बादाम रखकर सोएं और अगले दिन सुबह उठकर उन बादामों को मंदिर या किसी धर्मस्थल पर दान कर दें। इससे आपको खूब धन-दौलत की प्राप्ति होगी।

अनुराधा, ज्येष्ठा, मूल या पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र जन्मे लोग
जिन लोगों का जन्म अनुराधा, ज्येष्ठा, मूल या पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में हुआ है और जिनके नाम का पहला अक्षर न, य, भ, ध या फ है, उन लोगों को 25 मई तक अपने जीवन में, अपने करियर में लाभ के कई अवसर प्राप्त होंगे। आपको अपने कामों से लाभ ही लाभ मिलेगा। कुल मिलाके 25 मई तक आपके साथ सब अच्छा होगा। अत: 25 मई तक लाभ की स्थिति को बनाये रखने के लिए मंदिर में गुड़ दान करें। इससे आपको अपने कामों में अवश्य ही लाभ मिलेगा।

 उत्तराषाढ़ा, श्रवण या धनिष्ठा नक्षत्र में जन्मे लोग
जिनका जन्म उत्तराषाढ़ा, श्रवण या धनिष्ठा नक्षत्र में हुआ है और जिनका नाम भ, ज, ख या ग अक्षर से शुरू होता है, उनके घर के मुखिया को 25 मई तक कुछ परेशानी हो सकती है। घर के मुखिया को अपनी सेहत के प्रति सावधान रहना चाहिए। साथ ही अशुभ स्थिति से बचने के लिए और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए किसी छोटे बच्चों को भोजन कराएं। इससे आपको अशुभ फलों से छुटकारा मिलेगा।

शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद या रेवती नक्षत्र में जन्मे लोग
जिन लोगों का जन्म शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद या रेवती नक्षत्र में हुआ है और जिनके नाम का पहला अक्षर ग, स, द या च है, उन लोगों को 25 मई तक आर्थिक मामलों में सावधानी बरतनी चाहिए। आपको अपने पैसों को बेवजह खर्च नहीं करना चाहिए, क्योंकि इस दौरान आपको पैसों की कमी खल सकती है। अतः 25 मई तक अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाये रखने के लिये मंदिर में बाजरा दान करें। इससे आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर बनी रहेगी।

अश्विनी या भरणी नक्षत्र में जन्मे लोग
जिन लोगों का जन्म अश्विनी या भरणी नक्षत्र में हुआ है और जिनका नाम च या ल अक्षर से शुरू होता है, उन लोगों को 25 मई तक अपनी सेहत के प्रति थोड़ा संभलकर रहना चाहिए। इस दौरान आपको कोई रोग या भय हो सकता है। अत: अशुभ फलों से बचने के लिए और अपनी सेहत को अच्छा बनाये रखने के लिये धार्मिक कार्यों में अपना सहयोग देते रहें। इससे आपको किसी तरह के अशुभ फल का सामना नहीं करना पड़ेगा और आपकी सेहत अच्छी बनी रहेगी।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment