1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. कुंडली के वह योग, जो आपको को बनाते हैं धनवान!, जानें इनके बारें में विस्तार से

कुंडली के वह योग, जो आपको को बनाते हैं धनवान!, जानें इनके बारें में विस्तार से

ज्योतिषों के अनुसार धन की प्राप्ति के लिए कुंडली में कुछ योग बताए गये हैं। यह योग व्यक्ति की कुंडली में मौजूद होने से, थोड़े से ही प्रयास से धन प्राप्त होने लगता है। जानें उन कुंडली योगों के बारें में जो व्यक्ति को धनवान बना देते हैं।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: October 28, 2018 17:17 IST
Kundli Yog- India TV
Kundli Yog

धर्म डेस्क: आज के समय में हर कोई धनवान होना चाहता है। जिसके लइए वह कड़ी मेहनत करते है। खई लोग ऐसे भी होते है कि जो पैसा के लइए गलत रास्ते में चले जाते है और कुछ अधिक मेहनत करने के बावजूद भी फल नहीं मिलता है। आज धन हमारी मौलिक आवश्यकता बन चुका है।

धनवान व्यक्ति की इज्जत समाज में बहुत होती है और इस प्रकार के व्यक्ति की बात भी सभी सुनते है। वैसे तो व्यक्ति का असली धन उसकी बुद्धि और विवेक भी है। शास्त्र इस बात को इस तरह कहते है कि अगर व्यक्ति को सरस्वती देवी और लक्ष्मी देवी, का साथ, एक साथ मिल जाए तो व्यक्ति खुद को भाग्यशाली समझे। धनवान होने के लिए भाग्य का साथ बहुत जरूरी होता है।  (Kartik Mass 2018: आज से शुरू कार्तिक मास, करोड़पति बनने के लिए लगातार 30 दिन राशिनुसार करें ये उपाय )

ज्योतिषों के अनुसार धन की प्राप्ति के लिए कुंडली में कुछ योग बताए गये हैं। यह योग व्यक्ति की कुंडली में मौजूद होने से, थोड़े से ही प्रयास से धन प्राप्त होने लगता है। जानें उन कुंडली योगों के बारें में जो व्यक्ति को धनवान बना देते हैं। (कार्तिक मास शुरु, 24 नवंबर तक भूलकर भी न करें ये काम )

  • अपनी कुंडली में धन योग की जानकारी के लिए आप भारत के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों की मदद प्राप्त कर सकते हैं|
  • अगर किसी जातक का सिंह लग्न में दसमं स्थान पर सूर्य और बुध हों तो यह एक बुधादित्य योग बन जाता है। शास्त्रों के अनुसार यह योग व्यक्ति को धनवान बना देता है। जन्म कुंडली में दसमं स्थान में सूर्य और बुध एक साथ युक्त हो तो यह योग बनता है। ऐसे योग वाला व्यक्ति अतिबुद्धिमान एवं चतुर होता है। इस प्रकार के जातक बहुत ही कम समय में चर्चित हो जाते हैं। इनको मान-सम्मान भी बहुत जल्दी प्राप्त हो जाता है।
  • मीन लग्न में दसमं स्थान स्थान पर अगर ब्रहस्पति और चंद्रमा भी एक साथ विराजमान होते हैं तो कुंडली में केंद्र त्रिकोण योग बनता है। यह योग भी व्यक्ति को धनवान बनाता है। ऐसे व्यक्ति का जीवन राजा-महाराजों की तरह होता है। नाम, काम, मान, सम्मान और प्रॉपर्टी इन जातकों के पास प्रचुर मात्रा में होती है।
  • पंचम भाव में अगर मेष या वृश्चिक का मंगल हो और लाभ स्थान में शुक्र स्थित हो तो व्यक्ति को धन संबंधित कोई भी परेशानी नहीं होती है। इसी तरह पाँचवें घर में सिंह के सूर्य हो और लाभ स्थान में शनि, चंद्र-शुक्र से युक्त हो तो इस योग का जातक धनी होता है।
  • कुंडली में धन का स्थान दूसरा घर व ग्यारवां घर माना जाता है। अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में इन दोनों घरों के अन्दर मंगल और सूर्य एक साथ विराजमान हों तो वह व्यक्ति एक सफल व्यवसायी बनता है। इस योग वाले व्यक्ति के पास धन प्रचुर मात्रा में रहता है।
  • अगर कुंडली में दसमं स्थान पर ब्रहस्पति और मंगल एक साथ बैठे हों या चन्द्रमा व मंगल एक साथ बैठे हों तो यह गज केसरी और लक्ष्मी नारायण योग बनाते हैं। इन दोनों योगों वालों जातकों के पास धन, बहुत हल्के व कम प्रयास से भी आ जाता है। इन जातकों की आय अधिक होती है और व्यय कम होता है। इन योग से प्रभावित व्यक्ति पर माँ लक्ष्मी की कृपा दृष्टि सदैव बनी रहती है। 
India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment