1. You Are At:
  2. होम
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. इन 7 आदतों को ना अपनाएं, हो जाएंगी घन की लक्ष्मी दूर

इन 7 आदतों को ना अपनाएं, हो जाएंगी घन की लक्ष्मी दूर

हमारे नित्य रोज के आचरण और कार्यों से भी लक्ष्मी जी का आशीर्वाद हमें प्राप्त हो सकता है और कुछ दैनिक अनैतिक कार्यों से लक्ष्मी जी साथ छोड़ भी देती हैं। इसलिए इन आदतों को अपने जीवन में कबी धारण न करें। नहीं कभी भी धनवान नहीं हो सकते है।

Written by: India TV Lifestyle Desk [Published on:04 Sep 2018, 11:32 AM IST]
Goddess Lakshmi- India TV
Goddess Lakshmi

धर्म डेस्क: धन की देवी लक्ष्मी जी को भला कौन नहीं साथ रखना चाहता है? लेकिन अगर आप सोचते हैं कि लक्ष्मी जी का साथ बहुत तपस्या और कर्म-काण्ड के बाद ही प्राप्त होता है तो यह हमारी भूल है। हमारे नित्य रोज के आचरण और कार्यों से भी लक्ष्मी जी का आशीर्वाद हमें प्राप्त हो सकता है और कुछ दैनिक अनैतिक कार्यों से लक्ष्मी जी साथ छोड़ भी देती हैं। इसलिए इन आदतों को अपने जीवन में कबी धारण न करें। नहीं कभी भी धनवान नहीं हो सकते है।

सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सोते रहना

सूर्योदय के बाद उठना और सूर्यास्त के समय सोने से धन की देवी लक्ष्मी जी रूठ जाती हैं। शास्त्रों में कहा गया है कि सूर्योदय के बाद और सूर्यास्त के समय राक्षस प्रवृति के लोग ही सोया करते हैं। अक्सर आप देख सकते हैं कि इस आचरण के लोगों का जीवन अव्यवस्थित होता है और अक्सर इस तरह के लोग किसी ना किसी बीमारी से ग्रसित रहते हैं। (सितंबर मासिक राशिफल 2018: इस माह इन राशियों के जीवन में आ सकती है खलबली, जानिए अपना भविष्य )
हैं।

सुबह और शाम घर पर दीया ना जलाना
जो व्यक्ति सुबह और शाम अपने घर पर दीपक नहीं जलाता है। उससे मां लक्ष्मी क्रोधित होकर चली जाती हैं।

क्रोध और अपशब्दों का इस्तेमाल
हमारें धर्म शास्त्रों में यह बात कही गई है कि क्रोध करने वाला व्यक्ति नरक में जाता है। वहीं अपशब्द बोलेन वाला व्यक्ति कायर होता है। अगर आप अक्सर इन आदतों को अपनाते है तो मां लक्ष्मी आपके घर से बहुत दूर चली जाएगी। (साप्ताहिक राशिफल (3 से 9 सितंबर तक): बुध का ग्रह परिवर्तन के साथ बदल रही है शनि की चाल, इन राशियों पर पड़ेगा असर )

ब्रह्म महूर्त और संध्या समय में भोग-विलास करना
ब्रह्म महूर्त (सुबह 2 से 4 बजे) और संध्या समय में भोग विलास करने से भाग्य का उदय नहीं हो सकता है। हिन्दू धर्म के शास्त्रों ने साफ़ बताया है कि सुबह 2 से 4 और संध्याकाल का समय ब्रह्मा की आराधना के लिए सबसे उचित समय होता है और जो व्यक्ति इस समय भोग विलास में लिप्त रहता है वह मरने के बाद तो नरक की प्राप्ति करता ही है तथा जीते जी, लक्ष्मी जी उसका साथ छोड़कर चली जाती

साधू-संतों या शास्त्रों का अनादर करना
अपने घर में या जीवन में कई बार हम शास्त्रों का अनादर करते हैं या शास्त्रानुसार जीवन निर्वाह नहीं करते हैं तो ऐसा करने से हम किसी और का नहीं, बस अपना ही नुकसान कर रहे होते हैं। साधू-संतों एवं शास्त्रों के अनादर से, लक्ष्मी जी व्यक्ति से दूर हो जाती हैं।

गंदे कपड़े पहनना
अगर कोई वय्कित गंदे-मैले कपड़े पहनता है तो उसे समाज कभी भी इज्जत की द्रष्चि से नहीं देखता है। इसके साथ ही मां गदंगी के कारण उस व्यक्ति के साथ कभी नहीं होती है। (बुध ग्रह ने किया सिंह राशि पर प्रवेश, इन राशियों पर पड़ेगा सबसे अधिक असर )

घर को गन्दा रखने से
शास्त्रों के अनुसार कहा जाता है कि आप जहां पर ज्यादा से ज्यादा समय व्यतीत करते है। उस जगह को जरुर साफ रखें। इससे घर पर कबी भी नकारात्मक शक्तियां प्रवेश नहीं कर पाएंगी। जिससे कि मां लक्ष्मी आपके घर बनी रहेगी।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Web Title: Dont fallow these habbits its dangerous for youur money and luck: इन 7 आदतों को ना अपनाएं, हो जाएंगी घन की लक्ष्मी दूर
Write a comment