1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. Chandra grahan 2019: साल 2019 का आखिरी चंद्र ग्रहण है बेहद खास, जानें भारत में किस समय दिखेगा ग्रहण

Chandra grahan 2019: साल 2019 का आखिरी चंद्र ग्रहण है बेहद खास, जानें भारत में किस समय दिखेगा ग्रहण

भारतीय समय के अनुसार यह ग्रहण (Grahan) 16 जुलाई की रात 1 बजकर 31 मिनट पर शुरू होगा। जानें चंद्र ग्रहण के बारें में सबकुछ।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: July 16, 2019 18:14 IST
chandragrahan 2019- India TV
chandragrahan 2019

Lunar Eclipse 2019: साल 2019 का आखिरी चंद्र ग्रहण 16-17 जुलाई को लग रहा है। जो कि भारत में भी दिखा देगा। भारतीय समय के अनुसार यह ग्रहण (Grahan) 16 जुलाई की रात 1 बजकर 31 मिनट पर शुरू होगा और 17 जुलाई की सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर समाप्‍त हो जाएगा। ये आंशिक चंद्र ग्रहण होगा। जानें इस बार चंद्र ग्रहण क्यों है खास। इसके साथ ही जानें भारत में कहां और किस समय ग्रहण आएगा नजर।

इन जगहों पर दिखेगा चंद्र ग्रहण

सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक, यह आंशिक चंद्रग्रहण होगा जिसे अरुणाचल प्रदेश के दुर्गम उत्तर पूर्वी हिस्सों को छोड़कर देश भर में देखा जा सकेगा। दुनिया भर में यह ग्रहण एशिया, यूरोप, ऑस्‍ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका के अधिकतर हिस्‍सों में दिखाई देगा।

कैसा होगा इस बार का ग्रहण
यह इस साल का अंतिम चंद्र ग्रहण है। जो कि आंशिक है। 16 जुलाई को आंशिक चंद्र ग्रहण लगेगा (Partial Lunar Eclipse) है।

ये भी पढ़ें- Chandra Grahan 2019: चंद्र ग्रहण के समय बिल्कुल भी न करें ये काम, वर्ना होगा अशुभ

क्या होता है आंशिक चंद्र ग्रहण
आंशिक चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) तब होता है जब सूरज और चांद के बीच पृथ्‍वी घूमते हुए आती है, लेकिन वे तीनों एक सीधी लाइन में नहीं होते। ऐसी स्थिति में चांद की छोटी सी सतह पर पृथ्‍वी के बीच के हिस्‍से की छाया पड़ती है, जिसे अंब्र (Umbra) कहते हैं। चांद के बाकी हिस्‍से में पृथ्‍वी के बाहरी हिस्‍से की छाया पड़ती है, जिसे पिनम्‍ब्र (Penumbra) कहते हैं। इस दौरान चांद के एक बड़े हिस्‍से में हमें पृथ्‍वी की छाया नजर आने लगती है।

वैज्ञानिक नजरिए से है खास
इस बार का चंद्र ग्रहण वैज्ञानिक नजरिए से काफी खास है। इससे पहले 20-21 जनवरी को पूर्ण चंद्र ग्रहण पड़ा था। जिसे ब्लड मून नाम दिया गया था। लेकिन उस बार भारत में नजर नहीं आया था। वहीं इस बार ये भारत में नजर आने के साथ-साथ इसे सुपर ब्लड वुल्फ मून नाम दिया गया है।

वहीं ज्योतिष ते अनुसार भी चंद्र ग्रहण काफी खास है। इस बार चंद्र ग्रहण गुरु पूर्णिमा के दिन पड़ रही है। जो कि पूरे 149 सालों बाद पड़ रहा है। पिछली बार 12 जुलाई, 1870 को गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ पड़े थे।

ये भी पढ़ें- Chandra Grahan 2019: चंद्रग्रहण के 9 घंटे पहले लगेगा सूतक, सूतक काल में बंद रहेंगे चार धाम के कपाट

भारत में ग्रहण दिखने का समय
16 और 17 जुलाई के बीच की रात 12 बजकर 13 मिनट से चांद सूरज की छाया से ढकना शुरु होगा। 1 बजकर 31 ममिनट 43 सेकंड पर आंशिक चंद्र ग्रहण शुरु होगा। इसके साथ दिल्ली वालों को सुबह 3 बजे तक ग्रहण नजर आएगा। वहीं सुबह 4 बजकर 30 मिनट तक सूरज की छाया से चांद पूरी तरह से बाहर हो जाएगा।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment