1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. हेल्थ
  5. World AIDS Day 2018: हर साल लाखों बच्चें और युवा हो रहे है एड्स का शिकार, वाकई आप है सतर्क!

World AIDS Day 2018: हर साल लाखों बच्चें और युवा हो रहे है एड्स का शिकार, वाकई आप है सतर्क!

आज यानी 1 दिसंबर को पूरे विश्व में वर्ल्ड एड्स डे(World AIDS DAY) मनाया जाता है। इस साल 30वां विश्व एड्स दिवस मनाया जा रहा है। इस एड्स दिवस पर हम आपको बताएंगे इसके सिंबल, पोस्टर, एड्स के बचाव, एड्स के कारण और इसके फेमस स्लोगन।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: December 01, 2018 11:41 IST
Hiv- India TV
Image Source : PINTEREST Hiv

हेल्थ डेस्क: आज यानी 1 दिसंबर को पूरे विश्व में वर्ल्ड एड्स डे(World AIDS DAY) मनाया जाता है। इस साल 30वां विश्व एड्स दिवस मनाया जा रहा है। इस एड्स दिवस पर हम आपको बताएंगे इसके सिंबल, पोस्टर, एड्स के बचाव, एड्स के कारण और इसके फेमस स्लोगन। इसे मनाने का सिर्फ एक ही उद्देश्य है। इसके प्रति ज्यादा से ज्यादा लोग जागरुक हो। जिससे कि कई लोग इस बीमारी से ग्रसित होकर अपनी जान न लगाए। आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि यूनिसेफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2017 तक करीब 1 लाख 20 हजार बच्चे और किशोर एचआईवी संक्रमण से पीड़ित हैं। जानें एड्स के बारें में सबकुछ।

विश्व एड्स दिवस 2018 थीम

वर्ल्ड एड्स दिवस में इस बार की थीम की बात करें तो वो है 'Know Ypur Staus'। वहीं पिछले साल के थीम की बात करें तब थी, 'My Health, My Right।

HIV

HIV

एचआईवी क्या है, जानिए
एचआईवी यानी ह्यूमन इम्‍यूनोडेफिशियंसी वायरस हमारे इम्‍यून सिस्‍टम पर असर डालता है। इसके कारण शरीर किसी अन्‍य रोग के संक्रमण को रोकने की क्षमता खोने लगता है। वहीं एड्स एचआईवी संक्रमण का अगला चरण माना जाता है। शरीर का बैक्टीरिया वायरस से मुकाबला करने की क्षमता खोने लगता है। जिससे शरीर बीमारियों की चपेट में आने लगता है। शरीर प्रतिरोधक क्षमता आठ-दस सालों में ही न्यूनतम हो जाती है। इस स्थिति को ही एड्स कहा जाता है। एड्स वायरस को रेट्रोवायरस कहा जाता है। (HIV और AIDS दोनों बीमारी में हैं ये बड़े अंतर, जानिए इनसे जुड़ी दिलचस्प बाते )

HIV

HIV

इस तरह फैलता है एचआईवी वायरस

  • गर्भवती महिला से उसके होने वाले शिशु को यह संक्रमण हो सकता है। शिशु को यह संक्रमण स्‍तनपान के जरिए भी हो सकता है।
  • एचआईवी संक्रमित व्यक्ति द्वारा दान किए गए अंग से भी संक्रमण हो सकता है।
  • इस वायरस के फैसने के कई कारण है। एक सबसे बड़ा कारण है वो है एचआईवी संक्रमित व्‍यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध होता है।
  • संक्रमित रक्‍त चढ़ाने से अथवा सं‍क्रमित सुई के इस्‍तेमाल से भी एचआईवी वायरस फैल सकता है। (वर्ल्‍ड एड्स डे 2018: इन चार वजहों से ज्यादातर लोग नहीं करवाते HIV टेस्ट )

HIV

HIV

ऐसे बचें HIV से

  • कोई भी टीका या इंजेक्शन लगाने से पहले ध्यान रखें की सीरिंज नई हो।
  • एक से ज्यादा लोगों से संबंध बनाने से बचें।
  • सुरक्षित यौन संबंध बनाएं।
  • खून लेने से पहले उसकी जांच करा लें।
  • यौन संबंध बनाते समय कंडोम का इस्‍तेमाल करें।
  • शेविंग कराते समय भी नई ब्लेड का ही प्रयोग किया जाए।
  • HIV
    HIV

ऐसे नहीं फैलता HIV

  • मच्छर के काटने से।
  • पीड़ित से हाथ मिलाने से।
  • एक शौचालय के इस्तेमाल से।
  • एचआईवी पॉजिटिव के साथ खाने से या बात करने से।
  • मरीज के साथ सोने से।
  • इसके अलावा एचआईवी पॉजि़टिव को छूने से चूमने से भी यह रोग नहीं फैलता है।
India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment