1. You Are At:
  2. होम
  3. लाइफस्टाइल
  4. हेल्थ
  5. कुछ बच्चों को दूध पीने से हो सकता है ग्लाक्टोसेमिया, जानें इस बीमारी के लक्षण, कारण और बचाव के तरीके

कुछ बच्चों को दूध पीने से हो सकता है ग्लाक्टोसेमिया, जानें इस बीमारी के लक्षण, कारण और बचाव के तरीके

ऐसे में अगर उसे पीते ही उल्टी या फिर एलर्जी हो जाती है। तो समझ लें कि आपको ग्लाक्टोसेमिया है। जी हां जानें इस बीमारी के साथ-साथ इसके लक्षण, कारण और उपाय के बारें में।

Written by: India TV Lifestyle Desk [Published on:12 Feb 2019, 1:49 PM IST]
galactosemia - India TV
galactosemia

हेल्थ डेस्क: हम सभी ये अच्छी तरह से जानते है कि हमारे लिए दूध पीना कितना फायदेमंद होता है। डॉक्टर्स भी यहीं रॉय देते है कि बच्चों को क्या बड़ो को भी दूध का सेवन करना चाहिए। इसमें ऐसे पोषक तत्व पाएं जाते है। जो कि आपको कई बीमारियों से निजात दिलाता है, लेकिन कई लोग ऐसे होते है कि उन्हें थोड़ा सा भी दूध पसंद नहीं आता है। अगर बात बच्चों की है तो उन्हें डाइट का सबसे जरुरी हिस्सा दूध होता है। ऐसे में अगर उसे पीते ही उल्टी या फिर एलर्जी हो जाती है। तो समझ लें कि आपको ग्लाक्टोसेमिया है। जी हां जानें इस बीमारी के साथ-साथ इसके लक्षण, कारण और उपाय के बारें में।

क्या है ग्लाक्टोसेमिया

जरुरी नहीं है कि यह बीमारी हर किसी को हो जाएं। बहुत ही कम बच्चों को ऐसा होता है। आपको बता दें कि ग्लाक्टोसेमिया जिसे अतिदुग्धशर्करा के नाम से भी जाना जाता है। दूध या दूध से बने कई खाद्य पदार्थ में लेक्टोज नामक एंजाइम होता है। इस प्रकार के प्रोटीन से शरीर में एक अलग तरह की प्रक्रिया उत्पन्न होती है। इस एंजाइम पर लेक्टेस नामक दूसरा एंजाइम प्रक्रिया करता है जिससे ग्लूकोज और ग्लेक्टोस बनते हैं। जब किसी व्यक्ति के शरीर में वह एंजाइम पर्याप्त मात्रा में नहीं होता जो ग्लेक्टोस को और आगे तोड़ सके तो यह रोग उत्पन्न होता है। धीरे-धीरे ग्लेक्टोस का स्तर शरीर में बढ़ता जाता है जिससे पूरे शरीर में जहर फैलने लगता है। (सावधान: मोटापे के साथ-साथ हो रही है कमजोरी, तो है ये बीमारी)

ग्लाक्टोसेमिया के लक्षण
आपको बता दें कि यह समस्या सबसे ज्यादा नवजात बच्चों को होती है। (शाम के वक्त सिर में होने वाले दर्द से परेशान हैं तो घर में करें ये उपाय, तुरंत दिखेगा फायदा)
इस बीमारी का सबसे प्रमुख लक्षण है कि उन्हें उल्टी की समस्या सबसे अधिक होती है।
भूख की कमी
बच्चों में जॉइडिस की समस्या।
आखों में पीलापन होना।
बच्चे के यूरीन का रंग गहरा काला होना।
बच्चे में कमजोरी दिखना।

galactosemia

galactosemia

ग्लाक्टोसेमिया के कारण हो सकते है ये नुकसान
इस बीमारी के कारण समय के साथ ही लीवर बढ़ने लगता है।
लीवर के उत्तकों और कोशिकाओं में खराबी आने लगती है।
किडनी फेल होने का खतरा
ब्रेन डेमेज होने का खतरा

ग्लाक्टोसेमिया का ऐसे लगाएं पता
इस बीमारी का सबसे जल्दी पता यूरीन टेकअप से हो सकता है। अगर बच्चे के यूरीन में ब्लड प्लास्मा और अमीनो एसिड्स पाया जाता है। तो समझ लें कि उसे ये बीमारी है।
ब्लड शुगर में असामान्य तरीके से गिरावट आना।

ऐसे करें बचाव
अगर आपके बच्चे को जिस तरह के दूध से उल्टी आ रही है। उसका सेवन करना तुरंत बद कर दें।
बच्चे को सोया दूध या फिर ऐसे दूध का सेवन कराएं जिसमें लेक्टोज न हो।
इसके अलावा डॉक्टर से संपर्क करें। 

इंडिया टीवी 'फ्री टू एयर' न्यूज चैनल है, चैनल देखने के लिए आपको पैसे नहीं देने होंगे, यदि आप इसे मुफ्त में नहीं देख पा रहे हैं तो अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें।
Write a comment
pulwama-attack
australia-tour-of-india-2019