1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. हेल्थ
  5. तेजी से करना है वजन कम, तो इस समय जरुर लें झपकी

तेजी से करना है वजन कम, तो इस समय जरुर लें झपकी

एक नई स्टडी से पता चला है कि सुबह की अपेक्षा दोपहर के वक्त आराम करने से ज्यादा कैलरी बर्न होती हैं। हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में हुई रिसर्च के मुताबिक सुबह की अपेक्षा दोपहर में आराम करके इंसान 10 फीसदी ज्यादा कैलरी बर्न कर सकता है।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Published on: November 10, 2018 14:22 IST
Sleep- India TV
Sleep

हेल्थ डेस्क: आज के समय में हर दूसरा व्यक्ति मोटापे से परेशान है। जिससे निजात पाने के लिए वह खई कोशिशे करता है लेकिन उसे आसान तरीके से मोटापे से निजात नहीं मिल पाता है। लेकिन हाल में ही एक शोध सामने आया जिसमें दिन के वक्त झपकी लेने से आपका काम काफी आसान हो सकता है। एक नई स्टडी से पता चला है कि सुबह की अपेक्षा दोपहर के वक्त आराम करने से ज्यादा कैलरी बर्न होती हैं। हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में हुई रिसर्च के मुताबिक सुबह की अपेक्षा दोपहर में आराम करके इंसान 10 फीसदी ज्यादा कैलरी बर्न कर सकता है।

शोधकर्ता कर्जी के मुताबिक, 'एक ही काम को दिन के अलग-अलग वक्त पर करने से अलग-अलग कैलरी बर्न होती है, इस बात से हमें काफी हैरानी हुई।' इस शोध में 7 लोगों पर किया गया। शोध स्पेशल लैबोरेटरी में किया गया और यह अंदाजा भी नहीं था कि क्या टाइम हुआ है। हर पार्टिसिपेंट को जाकर सोने और जगने के लिए कहा गया। लेकिन हर रात टाइम को चार घंटे बढ़ाते गए।

स्टडी को को-ऑथर जीन के मुताबिक, 'स्टडी से हम दिन के अलग-अलग वक्त पर मेटाबॉलिक रेट अलग होता है।' रिजल्ट से पता चला कि सुबह के वक्त आराम करने पर एनर्जी कम खर्च होती है और दोपहर के बाद सबसे ज्यादा खर्च होती है।

डॉ जीन ने यह भी बताया, 'हम क्या खाते हैं सिर्फ इसका ही असर नहीं होता बल्कि हम कब खाते और कब आराम करते हैं, इससे निर्धारित होता है कि हम कितनी एनर्जी बर्न करेंगे और कितनी फैट के रूप में स्टोर करेंगे। पूरी अच्छी हेल्थ के लिए खाने और सोने के समय का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।'
   
भारत में नींद न आने की समस्या सबसे अधिक
एक सर्वे के मुताबिक, भारत में 93 फीसदी लोग नींद न आने की प्रॉब्लम से परेशान हैं और 58 फीसदी लोगों की रुटीन पर नींद पूरी न होने का सीधा इफेक्ट पड़ता है। फिजिशियन डॉ. नीलम मेहरा कहती हैं, 'नींद दो तरह की होती है। गहरी नींद और कच्ची नींद। अगर गहरी नींद 5 घंटे की भी आ जाए तो बॉडी रिलैक्स हो जाती है, लेकिन कच्ची नींद भले ही 8 घंटे की हो, बॉडी को रिलैक्स नहीं करती।' डॉ संजय अरोड़ा कहते हैं, 'अवेयरनेस न होने से लोग इसे मामूली चीज समझते हैं और डॉक्टर के पास नहीं जाते। दरअसल, सही तरह से नींद न आना कई बीमारियों की वजह बन सकती है।'

सुबह जल्दी जगने वाली महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा रहता है कम

दिवाली के बाद होने वाले एयर पॉल्यूशन को न लें हल्के में, बच्चों के फेफड़े पर पड़ रहा है बुरा असर

डायट में प्रोटीन को करेंगे शामिल तो बूढ़ापे में भी रहेंगे तंदुरुस्त

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban