1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. हेल्थ
  5. सारा अली खान को हुआ था PCOS बीमारी, जानें क्या है पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम और लक्षण के साथ इलाज भी

सारा अली खान को हुआ था PCOS बीमारी, जानें क्या है पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम और लक्षण के साथ इलाज भी

Sara Ali Khan Suffering From PCOS: सारा अली खान को पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोल(PCOS) नामक लाइलाज बीमारी है। आपको बता दें ये गंभीर बीमारी से अधिकतर लड़कियां को सामना करना पड़ता है। जाने इसके लक्षण, कारण और इलाज।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: November 20, 2018 16:00 IST
Sara ali khan suffering pcos- India TV
Image Source : EMEDICINEHEALTH/SARA ALI Sara ali khan suffering pcos

हेल्थ डेस्क: बॉलूवुड में 'केदारनाथ' से डेब्यू करने जा रही सैफ अली खान की बेटी सारा अली खान परफेक्ट फिगर वाली अभिनेत्री मानी जाती है। वह खुद को फिट रखने केलिए जिम में खूब पसीना बहाने के साथ-साथ अपनी डाइट पर पूरा ध्यान देती है लेकिन आप ये बात नहीं जानते होगे कि सारा का कभी वजन 96 किलो था। जी हां इस बारें में उन्होंने 'कॉफी विद करण' में करन जौहर के साथ बातचीत करते हुए राज़ का खुलासा किया। सारा ने बताया कि उन्हें एक गंभीर बीमारी है। जिसके कारण उनका वजन लगातार बढ़ता जा रहा था। जो कि एक बहुत बड़ी मुश्किक उनके सामने खड़ी थी।

आपको बता दें की सारा अली खान को पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम(PCOS) नामक लाइलाज बीमारी है। आपको बता दें ये गंभीर बीमारी से अधिकतर लड़कियां को सामना करना पड़ता है। इस बीमारी में बढ़ता वजन और अनियमित पीरियड्स जैसे लक्षणों को देखा जा सकता है। जानिए आखिर क्या है पीसीओएस इसके साथ ही जाने लक्षण और बचाव के उपाय। (इस बीमारी की वजह से कभी 96 किलो की थीं सारा अली खान, अपना ही वीडियो देखकर हंस पड़ीं )

क्या है PCOS

यह एक ओवरी संबंधी बीमारी होती है। जिसके कारण लड़कियों के हार्मोन असुंतलन की स्थिति उत्पन्न होने लगती है। ऐसे में महिलाओं के शरीर में फीमेल हार्मोन की बजाय मेल हार्मोन (एण्ड्रोजन) का स्तर ज्यादा बढ़ने लगता है। पीसीओएस होने पर अंडाशय में कई गांठे (सिस्ट) बनने लगती हैं। ये गांठे छोटी-छोटी थैली के आकार की होती हैं और इनमें तरल पदार्थ भरा होता है। धीरे-धीरे ये गांठे बड़ी होने लगती हैं और फिर ये ओव्यूलेशन की प्रक्रिया में रुकावट डालती हैं। ओव्यूलेशन की प्रक्रिया ना होने की वजह से ही पीसीओएस से पीड़ित महिलाओं में गर्भधारण की संभावना कम रहती है। पीसीओएस होने पर महिलाओं में टाइप-2 डायबिटीज होने की संभावना भी बढ़ जाती है। (जानें क्या है PCOD। साथ ही जानें लक्षण और कारण)

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम(PCOS) के लक्षण
अगर इनके शुरुआती लक्षणों के पहचान लिया जाएं। इस खतरनाक बीमारी से बचा जा सकता है। ये है इसके लक्षण।

  • पीरियड्स के समय अधिक खून बहना।
  • अनियमित पीरियड्स
  • अनचाहे बाल निकलना
  • मुंहासे होना
  • लगातार वजन बढ़ना
  • सिरदर्द
  • व्यवहार में बदलाव नजर आना
  • अनिद्रा
  • स्किन संबंधी रोगों का सामने आना, जैसे अचानक भूरे रंग के धब्बों का उभरना या बहुत ज्यादा मुंहासों का होना।
  • शादीशुदा महिलाओं में बांझपन या गर्भ न ठहरना।
  • यौन इच्छा की कमी

पीसीओएस होने का कारण

  • अधिक मात्रा में जंक फूड का सेवन
  • डायबिटीज या फिर हाई ब्लड प्रेशर
  • लगातार वजन बढ़ना
  • अधिक डिप्रेशन होना
  • अनियमित लाइफस्टाइल

पीसीओएस का इलाज
डाक्टरों के अनुसार वास्तव में इसे ठीक नहीं किया जा सकता है लेकि इसके लक्षणों के पहचान कर आप कुछ इलाज लेकर इस समस्या से काफी हद कर निजात पा सकते है। इस बीमारी का पूरा असर शरीर के हार्मेंस पर पड़ता है। सलिए पीसीओएस से पीड़ित महिलाओं को आमतौर पर डॉक्टर गर्भ निरोधक गोलियां खाने की सलाह देते हैं। जिससे हार्मोन के बिगड़े चक्र को ठीक किया जा सके। इसके अलावा अनचाहे बालों से छुटकारे के लिए कुछ ऐसे ट्रीटमेंट कराए जाते हैं जिससे बालों को बढ़ने से रोका जा सके।  

नफीसा अली को हुआ Ovarian Cancer, जानिए क्या है ओवेरियल कैंसर और लक्षण के साथ ट्रिटमेंट

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban