1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. हेल्थ
  5. डिनर करके सो जाते हैं तो समझों आप दे रहे हैं कैंसर को बुलावा: स्टडी

डिनर करके सो जाते हैं तो समझों आप दे रहे हैं कैंसर को बुलावा: स्टडी

एक नए शोध के अनुसार ये बात सामने आई कि आपके रात के खाने से आपको कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी भी हो सकती है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया कि देर रात डिनर करने से ब्रेस्ट कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कई गुना बढ़ जाता है।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: July 24, 2018 11:24 IST
Cancer- India TV
Image Source : PINTEREST Cancer

हेल्थ डेस्क:  आप ये बात अच्छी तरह से जानते है कि खाना हमारी सेहत में कितना फर्क डालता है। भोजन के कारण कई बार हमें ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर, वजन अधिक या कम होना आदि इफेक्ट आसानी से पड़ जाते है। यहीं नहीं एक नए शोध के अनुसार ये बात सामने आई कि आपके रात के खाने से आपको कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी भी हो सकती है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया कि देर रात डिनर करने से ब्रेस्ट कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कई गुना बढ़ जाता है।  

इस अध्‍ययन के लिए शोधकर्ताओं ने प्रोस्‍टेट कैंसर के 621 और ब्रेस्ट कैंसर के 1205 मरीजों के मामलों का अध्‍ययन किया। इसके लिए प्राइमरी हेल्‍थ सेंटर से 872 पुरुष और 1321 महिलाओं को औचक तरीके से चुना गया था।

ये अध्ययन स्‍पेन स्‍थित बार्सिलोना इंस्‍टीट्यूट फॉर ग्‍लोबल हेल्‍थ (आईएसग्‍लोबल) में किया गया है। इस अध्‍ययन में कहा गया है कि रात को 9 बजे के पहले या सोने से 2 घंटे पहले डिनर करने वालों को कई तरह के कैंसर होने की आशंका न के बराबर रहती है।

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर में मंगलवार को प्रकाशित शोध में कहा गया है कि रात का खाना जल्‍दी खाने वालों को ब्रेस्‍ट और प्रोस्‍टेट कैंसर होने की आशंका देर से खाना खाने वालों के मुकाबले 20 फीसदी तक कम हो जाती है।

इस अध्‍ययन के दौरान विशेषज्ञों ने रात के खाने के समय और कैंसर के खतरों के बीच संबंध स्‍थापित करने की कोशिश की। कैंसर के यह दोनों ही प्रकार दुनिया में सबसे ज्‍यादा लोगें को अपना शिकार बनाते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि नाइट शिफ्ट में काम करने वाले ज्‍यादातर लोगों में इन दोनों तरह के कैंसर होने की आशंका ज्‍यादा रहती है। उनका कहना है कि इसके लिए उनके जैविक क्रमचक्र में व्‍यवधान जिम्मेदार होता है। सोने और जागने की प्रक्रिया बाधित होती है, इसके साथ ही शरीर की अन्‍य प्रक्रियाएं भी प्रभावित होती हैं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment