1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. हेल्थ
  5. Delhi Air pollution: फिर 'गैस चैंबर' बन रही है दिल्ली, इन बीमारियों का खतरा बढ़ा

Delhi Air pollution: फिर 'गैस चैंबर' बन रही है दिल्ली, इन बीमारियों का खतरा बढ़ा

राजधानी दिल्ली की हवा(Delhi Air pollution) ने एक बार फिर से अपना रंग बदल लिया है। एक बार फिर से दिल्ली 'गैस चैंबर' बन रही है।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: October 26, 2018 10:14 IST
India Gate- India TV
India Gate

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली की हवा(Delhi Air pollution) ने एक बार फिर से अपना रंग बदल लिया है। एक बार फिर से दिल्ली 'गैस चैंबर' बन रही है। हर साल कि तरह इस साल भी ठंड आने से पहले दिल्ली की हवा ने अपना रुख बदल लिया है। बुधवार को जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली की हवा आने वाले दिनों में ज्यादा खराब होने वाली है। इस बात की चेतावनी खुद सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने दी है। इस बढ़ते प्रदूषण को लेकर सरकार से जब सवाल पूछे जाते हैं तो उनके पास एक दूसरे को कोसने के अलावा कोई जवाब नहीं होता। तो कई बार दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के स्तर के लिए कभी गाड़ियों को जिम्मेदार ठहराया जाता है, तो कभी पड़ोसी राज्यों में जलने वाले पराली को। लेकिन आखिर इसके कारण क्या है जो हर साल दिल्ली एक गैस चैंबर बन जाती है। आज हम आपको बताएंगे इस प्रदूषण से लोगों को इन बीमारियों का खतरा है साथ ही साथ बताएंगे कैसे आप इससे अपना बचाव कर सकते हैं।

दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण का सर्वाधिक बुरा प्रभाव आम लोगों की सेहत पर पड़ रहा है। अगर, हालात को नियंत्रित नहीं किया गया तो सेहत संबंधी परेशानियां और भी बढ़ेंगी। इससे खासकर बुजुर्गों, बच्चों सहित तमाम दिल्ली वासियों की परेशानी दिवाली के दौरान और बढ़ सकती है। इन प्रदूषित कण जब सांस के जरिये इंसान के शरीर में पहुंचते हैं तो वे रक्त के साथ मिश्रित होकर न सिर्फ उसे गाढ़ा बनाते हैं, बल्कि कॉरेनरी, आर्टरी ब्लॉकेज के साथ दिल की गति को प्रभावित भी करते हैं। यही वजह है कि पिछले कुछ वर्षों में खास तौर पर दिल्ली में दिल के मरीजों में आठ गुना तेजी से इजाफा हुआ है।

प्रदूषण से बचकर हम इससे पड़ने वाले दुष्प्रभाव और बीमरियों से खुद की और अपने परिवार की सुरक्षा कर सकते हैं। वायु प्रदूषण इंसान के शरीर में जल्दी असर करता हैं क्योंकि यह सांस के साथ हवा के रूप मे शरीर मे पहुंचता है। वायु प्रदूषण से दमा, खांसी, आंखों की रोशनी कमजोर होना,सिरदर्द रहना, फेफड़ों में संक्रमण होना जैसी बीमारियों का सामना करना पड़ कर सकता है।

बचाव ही उपाय 

वायु प्रदूषण से बचाव ही इसका उपाय है। इससे बचने के लिए सबसे पहले जल्दी उठकर ताजी हवा शरीर के अंदर लें। अगर आप योग करते हैं तो यह तो बहुत अच्छी बात होगी। योग में स्वच्छ हवा शरीर में लेने की बहुत सी मुद्राएं हैं। अगर आप योग नहीं कर सकते तो आप इसके अलावा बहुत से आसान तरीकों से वायू प्रदूषण से बच सकते हैं।

सुबह जल्दी उठकर टहलने जाएं 
ताजी हवा शरीर में लेने के लिए सुबह जल्दी घर से उठकर टहलने निकल जाएं। अगर आपके घर के पास कोई गार्डन है तो वहां जाकर हरियाली या पेड़ के पास खड़े होकर लंबी सांस अंदर खींचे और बाहर छोड़ें। पेड़ों से निकलने वाला आॅक्सीजन जब शरीर में जाता है तो शरीर में नई स्फूर्ति भर देता है।
इसके अलावा अगर आप घर से बाहर टहलने नहीं जा सकते तो घर के अहाते या छत पर खड़े होकर भी आप लंबी सांस अंदर, बाहर छोड़ने की प्रक्रिया अपना सकते हैं।

चेहरे को मास्क से ढककर रखें 
अगर आपके आसपास प्रदूषण की मात्रा ज्यादा है तो आप चेहरे को मास्क से ढककर रखें। इससे प्रदूषित हवा को शरीर मे जाने से रोकने में मदद मिलती है। इसके अलावा ऐसी जगह जाने या रहने से बचें जहां ज्यादा भीड़भाड़ वाली हो या ज्यादा यातायात का दबाव हो।(भूलकर भी आलू को न रखें फ्रीज पर, हो सकता है जानलेवा कैंसर रोग)

ऐसी जगह से बचें 
इंडस्टियल क्षेत्रों के आसपास रहने या जाने से बचें क्योंकि यहां फैक्टियों की तादाद ज्यादा होती है और इन फैक्टियों से निकलने वाला धुआं कैमिकल युक्त होता है और शरीर में पहुंचकर बीमारियां पैदा करता है।(सुशांत सिंह राजपूत ने जिम में की ऐसी एक्सरसाइज, जिसे देख यूजर्स ने किए ऐसे कमेंट्स)

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment