1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. जॉब्‍स-एजुकेशन
  4. सरकारी नौकरी
  5. IBPS CLERK EXAM PREPARATION: 40 दिन में घर बैठे कैसे करें IBPS क्लर्क परीक्षा की तैयारी

IBPS CLERK EXAM PREPARATION: 40 दिन में घर बैठे कैसे करें IBPS क्लर्क परीक्षा की तैयारी

बैंकिंग क्षेत्र का सबसे बड़ी परीक्षा IBPS क्लर्क अब से कुछ दिनों में होने वाली है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: September 13, 2019 13:02 IST
PREPARATION TIPS FOR IBPS EXAM- India TV
PREPARATION TIPS FOR IBPS EXAM

IBPS CLERK EXAM PREPARATION: बैंकिंग क्षेत्र का सबसे बड़ी परीक्षा IBPS क्लर्क अब से कुछ दिनों में होने वाली है। बहुत सरे छात्रों ने अभी तक तैयारी शुरू नहीं करी है। ऐसे अभियर्थियों की मदद के लिए, हम आपके लिए 40 दिन का स्टडी प्लान। अगर आप इस स्टडी प्लान का अनुसरण करें, तो आप की काफी समस्या हल हो सकती है।

पहले 1 से 8 दिन

1-8 दिन में शुरू करने से पहले पाठ्यक्रम और पैटर्न को समझें, प्रत्येक विषय के अलग-अलग तरह के प्रश्नों को हल करने का प्रयास करें। जो प्रश्न आपको थोड़े या बहुत कठिन लग रहे हैं, उन्हें अलग से लिख लें। अपने मजबूत और कमजोर विषयों की पहचान करे और उन्हें एक जगह नोट कर लें। परीक्षा के सिर्फ 40 दिन रहने के कारण अब आपको अपने कमजोर भागो में भी ध्यान देना होगा। जिन विषयों की आपको समझ है अपना पूरा ध्यान उन विषयो को मजबूत करने के लिए लगायें। शब्द भड्डारण (vocabulary) में वृद्धि और अपने पढ़ने की गति बढ़ाने के लिए किसी भी किताब या अंग्रेजी साहित्य की किताब या अख़बार कों पढ़ना शुरू करें।

 9- 13 दिन में 
अब आप अपने विषय की अवधारणाओं के मजबूत और कमज़ोर वर्गों की पहचान कर लें। आदर्श के रूप में मजबूत और कमजोर टॉपिक के बीच में 50-50% समय विभाजित करें। अलग-अलग अवधारणाओं के माध्यम से बुनियादी सवालों को हल करें। अगर आपको लगता है कि कुछ सवालो में आपको ज्यादा समय लग रहा है तो आपको इन सवालो को अपने कमजोर भाग में रखना चाहिए। अंग्रेज़ी साहित्य की किताबों या अख़बार को पढ़ना जारी रखें।

 14-21 दिन में 
दूसरे सप्ताह के अंत के बाद आप अब सभी विषयों के बुनियादी ज्ञान कों अर्जित कर चुके है और अब आप औसत पठन गति तक पहुँच चुके हैं। जिस विषय आप मजबूत हैं उनके शॉर्टकट, युक्तियाँ और ट्रिक्स की पहचान करें। सवालों को हल करने के लिए नयी युक्तियाँ सीखे और उनका नियमित उपयोग करना प्रारंभ करें। कमजोर बनाम मजबूत टॉपिक के लिए आवंटित समय का अनुपात 60:40 अब हो जाना चाहिए। 60% समय कमजोर और 40% समय मजबूत विषयों के लिए आवंटित किया जाना चाहिए। पूर्ण अनुभागीय समान परीक्षण देने प्रारम्भ करें। किताबे या अख़बार पढ़ना जारी रखे।

22-29 दिन में
 जिन विषयो में पहले आप कमजोर थे अब आपको वह थोड़े सरल लगने लेगेंगे। अन्य कमजोर वर्गों कों जिसमें आप अभी भी कमजोर है उन्हें छोड़ दें। जिन सवालो कों आप सही ढंग से हल कर सकते है केवल उन पर 100% ध्यान दें। ऑनलाइन मॉक पेपर्स से अपने प्रदर्शन का विश्लेषण करे और जिन सवालो में आपको सबसे ज्यादा समय लग रहा उनकी पहचान करें। ज्यादा से ज्यादा सवालो को हल करने का प्रयास करते रहे। 1 घंटे के दैनिक पढने के लाभ और उसके प्रभाव अब आपको दिखने शुरू होगे। अब आप वास्तव में सवालों को जल्दी हल और आपको अधिक समय अन्य सवालो कों सुलझाने के लिए मिलने लगेगा साथ ही आपको अपनी सफलता और विफलता के बारे में नोटिस हो जाएगा। 

30-39 दिन में 
अब आप पूरे ऑनलाइन मॉक पेपर्स को समय के अनुसार हल करें। पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों कों दिए गए समय के अनुसार हल करें। पिछले वर्ष पेपर को हल करे और अगर कट ऑफ आ जाता है तो आपकी तैयारी सही हो रही है। अगर आपके अंक कम आ रहे है तो जहाँ आप ज्यादा अंक ले सकते है तो वहां ज्यादा मेहनत करें। अवधारणाओं पे काम करे और बुनियादी सवालों को हल करे क्योंकि जब आप मुश्किल सवालों कों करने लगते है तो आप कुछ बुनियादी सवालों कों भूल जाते हैं इसलिए प्रयास जारी रखें। केवल अपनी अच्छी तैयारी पर ध्यान केंद्रित करें। परीक्षा से एक दिन पहले ज्यादा मत सोचें, आराम से एक्साम देने जाइए।हम उम्मीद करते हैं कि हमारी ये योजना आपके लिए लाभप्रद होगी। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Sarkari Naukri News in Hindi के लिए क्लिक करें जॉब्‍स-एजुकेशन सेक्‍शन
Write a comment