1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. नोएडा आने से क्यों डरते थे उत्तर प्रदेश के पुराने मुख्यमंत्री? CM योगी ने बताई वजह

नोएडा आने से क्यों डरते थे उत्तर प्रदेश के पुराने मुख्यमंत्री? CM योगी ने बताई वजह

योगी आदित्यनाथ ने पहले के मुख्यमंत्रियों पर निशाना साधते हुए कहा कि कुर्सी के भय से बचने के लिए नोएडा के दौरे नहीं किए गए और नोएडा में किसानों, बिल्डरों और घर खरीदारों का शोषण किया गया

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 25, 2019 14:59 IST
CM Yogi's statement on avoidance of Noida visit by former CM's of Uttar Pradesh- India TV
CM Yogi's statement on avoidance of Noida visit by former CM's of Uttar Pradesh

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के नोएडा शहर के बारे में इस तरह का अंधविश्वाश है यहां उत्तर प्रदेश का जो भी मुख्यमंत्री आता है उसकी कुर्सी चली जाती है। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मौजूदा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच एक्वा लाइन मेट्रो सेवा शुरू करने के साथ इसके बारे में बयान दिया।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्व में जाति, क्षेत्र, मत और मजहब के आधार पर जिन्होंने योजनाओं को बांटा था वे विकास के नहीं बल्कि विनाश के पोशक थे और ऐसे लोगों ने धारणा बना रखी थी कि मुख्यमंत्री अगर नोएडा जाएगा तो उसकी कुर्सी चली जाएगी। योगी आदित्यनाथ ने पहले के मुख्यमंत्रियों पर निशाना साधते हुए कहा कि कुर्सी के भय से बचने के लिए नोएडा के दौरे नहीं किए गए और नोएडा में किसानों, बिल्डरों और घर खरीदारों का शोषण किया गया।

योगी आदित्यनाथ ने बताया कि उनकी सरकार आने से पहले नोएडा में करीब 3 लाख ऐसे घर खरीदार थे जिन्होंने घर खरीदने का पैसा जमा कर दिया था लेकिन घर नहीं मिला था, ऐसे 3 लाख खरीदारों में से 1 लाख खरीदारों को उनकी सरकार घर दिलवा चुकी है और बाकी बचे खरीदारों को भी एक निश्चित अवधि में घर उपलब्ध कराने में मदद करेगी।

मुख्यमंत्री ने नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच नई मेट्रो सेवा एक्वा लाइन का उदघाटन करते हुए कहा कि जल्दी ही उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, कानपुर, आगरा और मेरठ शहरों को भी मेट्रो सेवा के साथ जोड़ा जाएगा।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment