1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. टीपू जयंती: कर्नाटक में सड़कों पर छिड़ा सियासी संग्राम, विरोध कर रहे लोग हिरासत में, धारा 144 लागू

टीपू जयंती: कर्नाटक में सड़कों पर छिड़ा सियासी संग्राम, विरोध कर रहे लोग हिरासत में, धारा 144 लागू

कर्नाटक में विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के जबर्दस्त विरोध-प्रदर्शन के बीच जनता दल सेक्युलर-कांग्रेस की सरकार शनिवार को टीपू जयंती मना रही है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: November 10, 2018 17:17 IST
Tipu Sultan Jayanti Live Updates- India TV
Tipu Sultan Jayanti Live Updates

बेंगलुरु: कर्नाटक में विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के जबर्दस्त विरोध-प्रदर्शन के बीच जनता दल सेक्युलर-कांग्रेस की सरकार शनिवार को टीपू जयंती मना रही है। सरकार के इस फैसले के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी पिछले कई दिनों से प्रदर्शन कर रही है। इस बीच राज्‍य के मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए टीपू जयंती के किसी कार्यक्रम में शामिल होने में असमर्थता जताई है। माना जा रहा है कि विवाद से बचने के लिए मुख्यमंत्री ने जानबूझकर इस कार्यक्रम से खुद को अलग कर लिया है।

शनिवार को टीपू सुल्तान की जयंती के मौके पर संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इसके अलावा कोडागू, हुबली और धारवाड़ में 10 नवंबर की सुबह 6 बजे से लेकर 11 नवंबर की सुबह 7 बजे तक के लिए धारा 144 लगा दी गई है। इस मुद्दे को लेकर राज्य में सियासत गरमा गई है और भाजपा एवं अन्य संगठनों के प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए हैं। पुलिस ने मडिकेरी में कई लोगों को हिरासत में भी लिया है।

Tipu Sultan Jayanti Updates:

12:56 PM:  एहतियात के तौर पर कर्नाटक के कई जिलों में निषेधाज्ञा लागू की गई है। अधिकारियों ने बताया कि न तो टीपू जयंती के समर्थन और न ही इसके विरोध में जुलूस निकालने की अनुमति दी जा रही है।

12:27 PM:  कोडागू और चित्रदुर्ग जिलों, तटीय जिलों सहित अन्य क्षेत्रों में सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं। इन इलाकों में स्थानीय लोग टीपू जयंती के विरोध में बताए जा रहे हैं।

11:41 AM:  साल 2015 में जब पहली बार आधिकारिक तौर पर टीपू जयंती मनाई गई थी तो कोडागू जिले में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन और हिंसा हुई थी। इस बार भी यहां टीपू जयंती होराटा समिति ने शनिवार को बंद बुलाया है।

11:09 AM:  कर्नाटक के अल्पसंख्यक मंत्री जमीर अहमद खान ने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया से उनके आवास पर मुलाकात की। आज कर्नाटक राज्य सरकार टीपू जयंती मना रही है।

10:19 AM: हमने सभी जरूरी सुरक्षा सबंधी कदम उठाए हैं। अगर कोई कानून-व्यवस्था को तोड़ने की कोशिश करता है तो पुलिस कड़ी कार्रवाही करेगी: कोडागु के सुरक्षा इंतजामों पर डिप्टी कमिश्नर पीआई श्रीविद्या

09:46 AM: माडिकेरी में बंद के आवाह्न को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी कर दी गई है। टीपू जयंती के विरोध में यह बंद भाजपा और कोडव नेशनल काउंसिल समेत कई संगठनों ने बुलाया है।

09:38 AM: कोडागु के भाजपा जिला सचिव ने कहा है कि टीपू जंयती के नाम पर सरकार जनता का पैसा बर्बाद कर रही है। उन्होंने कहा, 'टीपू कोई योद्धा नहीं था, उसने कई हिंदुओं को मारा और मंदिरों पर आक्रमण किया। ऐसे व्यक्ति को हम महान क्यों बता रहे हैं? यह केवल वोट बैंक की राजनीति है। कोडागु में सभी इसके विरोध में हैं।'

09:31 AM: माडिकेरी में टीपू जयंती मनाए जाने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कई लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया।

09:25 AM: टीपू जयंती मनाए जाने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे कई समूहों ने श्री ओमकारा मंदिर में प्रार्थना की। इसके बाद वे टीपू जयंती का उत्सव मनाए जाने के खिलाफ एक जूलूस निकालेंगे।

वहीं, 'टीपू जयंती' पर कर्नाटक सरकार द्वारा आयोजित किए जा रहे समारोह के एक दिन पहले इसके खिलाफ भाजपा ने शुक्रवार को जमकर विरोध-प्रदर्शन किया। पार्टी ने सरकार से जश्न समारोह को रद्द करने की अपील करते हुए बेंगलुरु, मैसूर और कोडागू में विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शन किया। जनता दल सेक्युलर-कांग्रेस के गठबंधन वाली सरकार का नेतृत्व करने वाले मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी ने पिछले सप्ताह कहा था कि पिछली कांग्रेस सरकार की नीति को बरकरार रखते हुए 10 नवंबर को ‘टीपू जयंती’ मनाई जाएगी। 'टीपू जयंती' पर आयोजित प्रमुख समारोह का उद्घाटन उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर करेंगे।
कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में विरोध-प्रदर्शन करते भाजपा कार्यकर्ता

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में विरोध-प्रदर्शन करते भाजपा कार्यकर्ता | PTI

कुमारस्वामी के इस ऐलान के बाद ही भाजपा ने विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा की थी। इस बीच, मुख्यमंत्री कार्यालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि कुमारस्वामी डॉक्टर की सलाह के मद्देनजर अगले 3 दिन तक किसी आधिकारिक समारोह में हिस्सा नहीं लेंगे। वहीं, मंत्री डीके शिवकुमार ने भाजपा के विरोध पर बोलते हुए कहा कि टीपू सुल्तान का इतिहास काफी लंबा है। उन्होंने कहा, ‘अगर हम उनकी जयंती मनाते हैं, तो इसमें मुझे कोई बुराई नहीं दिखती। भाजपा का अपना राजनैतिक अजेंडा है। वे हिंदुओं और मुसलमानों के बीच मतभेद पैदा करना चाहते हैं।’

वीडियो: कर्नाटक में टीपू जयंती पर छिड़ा संग्राम, विरोध कर रहे कई लोग हिरासत में, धारा 144 लागू

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment