1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. JDU का शरद गुट फिर चुनाव आयोग पहुंचा, चुनाव चिन्ह पर दावा

JDU का शरद गुट फिर चुनाव आयोग पहुंचा, चुनाव चिन्ह पर दावा

शरद यादव की अगुवाई वाला जनता दल (युनाइटेड) पहला आवेदन दरकिनार कर दिए जाने के बाद गुरुवार को दोबारा निर्वाचन आयोग पहुंचा और पार्टी के चुनाव चिन्ह पर दावा किया। शरद गुट ने आयोग से अपने दावे के समर्थन में दस्तावेज जमा करने के लिए एक महीने का समय मांगा ह

IANS IANS
Updated on: September 14, 2017 22:24 IST
sharad yadav- India TV
sharad yadav

नई दिल्ली: शरद यादव की अगुवाई वाला जनता दल (युनाइटेड) पहला आवेदन दरकिनार कर दिए जाने के बाद गुरुवार को दोबारा निर्वाचन आयोग पहुंचा और पार्टी के चुनाव चिन्ह पर दावा किया। शरद गुट ने आयोग से अपने दावे के समर्थन में दस्तावेज जमा करने के लिए एक महीने का समय मांगा है।

जेडीयू के महासचिव अरुण श्रीवास्तव ने संवाददाताओं से कहा, "हमने आज फिर से निर्वाचन आयोग में पार्टी के चुनाव चिन्ह के लिए आवेदन किया है। हमारा पहले का आवेदन अस्वीकार नहीं किया गया था, बल्कि उसे दरकिनार कर दिया गया था, क्योंकि उस पर शरद यादव के हस्ताक्षर नहीं थे।"

उन्होंने कहा कि पार्टी ने आयोग से उनके गुट में आने की इच्छा रखने वाले पार्टी सदस्यों की संख्या को साबित करने के लिए दस्तावेज जमा करने खातिर एक माह का समय मांगा है। श्रीवास्तव ने कहा, "बिहार के अलावा सभी राज्यों की जेडीयू इकाइयां शरद यादव के साथ हैं। कानूनी तौर पर पार्टी शरद यादव की है।"

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हालांकि अपनी अगुवाई वाले जेडीयू को वास्तविक जेडीयू होने का दावा किया है। जेडीयू में दरार तब आई, जब जुलाई में नीतीश कुमार ने जेडीयू-कांग्रेस-राजद महागठबंधन से अलग होकर भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर सरकार बना ली, जबकि विधानसभा चुनाव में जनादेश महागठबंधन को मिला था।

नीतीश के पैंतरा बदलने के कारण बिहार में 80 विधायकों वाली सबसे बड़ी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल सत्ता से बाहर है और 53 विधायकों वाली भाजपा को अचानक सत्ता मिल गई है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
yoga-day-2019