1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. मोदी सरकार 2.0: रमेश पोखरियाल निशंक बने देश के नए मानव संसाधन विकास मंत्री

रमेश पोखरियाल को मोदी सरकार 2.0 में मिली अहम जिम्मेदारी, बने देश के नए HRD मिनिस्टर

उत्तराखंड से आने वाले भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता रमेश पोखरियाल 'निशंक' को देश का नया मानव संसाधन विकास मंत्री बनाया गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: May 31, 2019 13:53 IST
Dr. Ramesh Pokhriyal Nishank | Facebook- India TV
Dr. Ramesh Pokhriyal Nishank | Facebook

नई दिल्ली: मोदी सरकार 2.0 में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया गया है। आपको बता दें कि गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं 57 अन्य मंत्रियों ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में पद एवं गोपनीयता की शपथ ली थी। उत्तराखंड से आने वाले भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता रमेश पोखरियाल 'निशंक' को देश का नया मानव संसाधन विकास मंत्री बनाया गया है। आपको बता दें कि यह देश के सबसे अहम मंत्रालयों में से एक है। निशंक इससे पहले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं।

15 जुलाई 1959 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में स्थित पिनानी गांव में जन्मे निशंक पीएचडी और डी.लिट हैं। वह बचपन से ही कहानियां और कविताएं लिखते रहे हैं। कविताओं का उनका पहला संकलन 'समर्पण' नाम से 1983 में प्रकाशित हुआ था। उस समय वह केवल 24 साल के थे। तबसे लेकर आजतक उनकी कई किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं। पोखरियाल 1991 में पहली बार उत्तर प्रदेश विधानसभा में कर्णप्रयाग से विधायक बनकर पहुंचे थे। उसके बाद उन्होंने यहीं से 1993 और 1996 में भी जीत दर्ज की थी।

वह पहली बार 1999 में कल्याण सिंह की सरकार में मंत्री बने। 2000 में उत्तराखंड के गठन के बाद वह 12 विभागों के मंत्री बनाए गए थे जिनमें वित्त और राजस्व जैसे अहम मंत्रालय शामिल थे। 2009 में वह उत्तराखंड के सबसे युवा मुख्यमंत्री बने, हालांकि 2011 में उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। रमेश पोखरियाल निशंक पहली बार केंद्र में मंत्री बनाए गए हैं और उन्हें पहली बार में ही मानव संसाधन विकास मंत्रालय मिल जाना एक बड़ी खबर है।

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban