1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अब कभी दोबारा चुनाव नहीं जीत सकते: अशोक गहलोत

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अब कभी दोबारा चुनाव नहीं जीत सकते: अशोक गहलोत

अशोक गहलोत ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए आपातकाल को लेकर भाजपा पर पलटवार करते हुए कहा कि अच्छा है मोदी जी आपातकाल को लेकर हमारी पब्लिसिटी कर रहे है, अच्छा होता प्रधानमंत्री जी उन बेहतरीन योजनाओं का भी जिक्र करते जिनकी शुरुआत इंदिरा जी ने की थी...

Bhasha Bhasha
Updated on: June 27, 2018 17:29 IST
prime minister narendra modi- India TV
prime minister narendra modi

जयपुर: कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को गर्व करना चाहिए कि जिस कुर्सी पर वो बैठे हैं उस पर कभी पंडित जवाहरलाल नेहरू बैठा करते थे। मोदी अब कभी दोबारा चुनाव नहीं जीत सकते। गहलोत ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए आपातकाल को लेकर भाजपा पर पलटवार करते हुए कहा कि अच्छा है मोदी जी आपातकाल को लेकर हमारी पब्लिसिटी कर रहे है, अच्छा होता प्रधानमंत्री जी उन बेहतरीन योजनाओं का भी जिक्र करते जिनकी शुरुआत इंदिरा जी ने की थी।

उन्होंने कहा कि देश के सामने झूठ आ गया है, अब चाहे कुछ भी कर लें मोदीजी दुबारा चुनाव नहीं जीत सकते। गहलोत ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बार-बार राजस्थान बुलाकर बेइज्जत कर रही हैं। यह राजे की फितरत रही है। गहलोत ने केन्द्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर द्वारा गांधी परिवार पर लगाए गए आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा गांधी परिवार को लेकर बेबुनियाद आरोप लगा रही है। उनको मालूम होना चाहिए गांधी परिवार तीस साल से किसी संवैधानिक पद पर नहीं है।

गहलोत ने कहा कि भाजपा झूठे वादे करके भारी बहुमत से सत्ता में आई लेकिन जनता से किए वादों को पूरा नहीं करने से जनता आने वाले चुनाव में हिसाब चुकाएगी। प्रदेश की जनता भाजपा सरकार को माफ नहीं करेगी चाहे कोई आकर जयपुर में बैठ जाए। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री गहलोत ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को सलाह दी है कि वे पुरस्कार लेने में मुख्यमंत्री की कुर्सी की गरिमा का ध्यान रखें। मुख्यमंत्री पद की गरिमा होती है।

उन्होंने प्रदेश में किसानों द्वारा की गई आत्महत्याओं, बिगड़ी कानून व्यवस्था, रिफाइनरी, किसानों के कर्ज माफी, (रेता) को लेकर राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मौजूदा सरकार के शासन में किसानों ने आत्महत्या की है। यह कलंक राजस्थान पर पहली बार लगा है। बजरी मुद्दे पर सरकार सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष ठीक ढंग से रख पाने में विफल रहने के कारण पचास लाख मजदूर परिवारों पर संकट खडा हो गया है। सरकार और खनन माफिया की मिलीभगत के कारण यह हालात पैदा हुए है।

उन्होंने राज्य सरकार द्वारा गो संवर्धन के लिए शराब पर लगाए गए सैस मुद्दे पर कहा कि सरकार कम से कम शराब से वसूल किए गए सैस को गायों पर खर्च नहीं करे। सरकार ने गाय को शराब से क्यों जोड़ा है। कम से कम ऐसा तो नहीं करे। उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट किए जाने के मुददे पर कहा कि यह आलाकमान तय करता है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment