1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. ‘कर्जमाफी है सिर्फ झूठ का पुलिंदा, पंजाब में सिर्फ 30 करोड़ रुपए के कर्ज माफ’

‘कर्जमाफी है सिर्फ झूठ का पुलिंदा, पंजाब में सिर्फ 30 करोड़ रुपए के कर्ज माफ’

भाजपा नेता ने कहा कि कर्नाटक में 45000 करोड़ रुपए की कर्ज माफी का ऐलान किया गया था और अबतक 75 करोड़ रुपए के कर्ज भी माफ नहीं हुए हैं

Written by: India TV News Desk [Published on:24 Dec 2018, 4:15 PM IST]
Prakash Javdekar's statement on farm loan waiver - India TV
Prakash Javdekar's statement on farm loan waiver 

नई दिल्ली। कांग्रेस द्वारा अलग-अलग राज्यों में किसानों की कर्ज माफी को भारतीय जनता पार्टी ने ढकोसला और झूठ का पुलिंदा बताया है। सोमवार को केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस के लिए वादा करना और वादा करके मुकरना नई बात नहीं है, उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों से संपूर्ण कर्ज माफी का वादा किया था लेकिन किसानों को बदतर हालात में पहुंचा दिया।

भाजपा नेता ने कहा कि कर्नाटक में 45000 करोड़ रुपए की कर्ज माफी का ऐलान किया गया था और अबतक 75 करोड़ रुपए के कर्ज भी माफ नहीं हुए हैं, राज्य सरकार बैंकों से कह रही है कि वे कर्ज माफ करें। उन्होंने बताया कि कर्नाटक में किसानों का कर्जा माफ करने के लिए जो फार्म भरना पड़ता है उसमें 52 तरह की शर्तें हैं और इसके तहत 15 प्रतिशत भी किसान नहीं आते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले 6 महीने में कर्नाटक में 397 किसानों ने आत्महत्या की है। उन्होंने कहा कि कर्ज माफी का ढकोसला झूठ का पुलिंदा है।

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पंजाब में भी ऐसे ही हालात हैं, राज्य में किसानों का कर्ज 90 हजार करोड़ रुपए है, कर्ज माफी के लिए बजट में 3 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया और अबतक सिर्फ 30 करोड़ रुपए ही बांटे गए हैं। उन्होंने कहा कि देश में किसानों की दुर्दशा के लिए कांग्रेस की की 50 साल तक चली किसान विरोधी अर्थनीति जिम्मेदार रही। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस किसानों की ऐसी ही दुर्दशा करेगी।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: ‘कर्जमाफी है सिर्फ झूठ का पुलिंदा, पंजाब में सिर्फ 30 करोड़ रुपए के कर्ज माफ’
Write a comment