1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. क्या नीतीश कुमार बढ़ा रहे हैं बीजेपी से दूरी? धारा 370 पर दिया यह बड़ा बयान

क्या नीतीश कुमार बढ़ा रहे हैं बीजेपी से दूरी? धारा 370 पर दिया यह बड़ा बयान

केंद्रीय मंत्रिमंडल में जद (यू) के नहीं शामिल होने का बिहार के विकास पर प्रभाव पड़ने की संभावना से इनकार करते हुए उन्होंने कहा कि अगले पांच साल तक ऐसे सभी पिछड़े राज्यों के विकास के लिए पहल की जानी चाहिए, जिससे ऐसे पिछड़े राज्यों को विकसित राज्यों की श्रेणी में लाया जा सके। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: June 11, 2019 7:18 IST
क्या नीतीश कुमार बढ़ा रहे हैं बीजेपी से दूरी? धारा 370 पर दिया यह बड़ा बयान- India TV
क्या नीतीश कुमार बढ़ा रहे हैं बीजेपी से दूरी? धारा 370 पर दिया यह बड़ा बयान

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जम्मू एवं कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के संबंध में पूछे जाने पर कहा कि उनकी पार्टी शुरू से ही इस धारा के हटाए जाने के पक्ष में नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जद (यू) ने शुरू से ही अपनी राय धारा 370, समान आचार संहिता और अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर स्पष्ट कर रखा है। उन्होंने कहा, "हमारा मानना है कि राम मंदिर का निर्माण न्यायालय के निर्णय से या आपसी सहमति से हो। हमलोग समान आचार संहिता को थोपे जाने के पक्ष में भी नहीं हैं।"

Related Stories

नीतीश कुमार ने यहां सोमवार को कहा कि उनकी प्राथमिकता काम करना है और लोकसभा चुनाव में काम के आधार पर बिहार के लोगों ने जनादेश भी दिया है। जद (यू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने एकबार फिर कहा कि जद (यू) जम्मू एवं कश्मीर से संबंधित धारा 370 हटाने का विरोध करेगी।

नीतीश ने जनता दल (युनाइटेड) के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने पर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में किसी प्रकार की कटुता से इनकार करते हुए कहा कि मंत्रिमंडल में सांकेतिक रूप से शामिल नहीं होने का निर्णय जद (यू) पार्टी का है।

उन्होंने कहा, "भाजपा के साथ आपसी संबंध में कोई कटुता नहीं है। जैसे पहले सौहार्द का संबंध था, वैसे आज भी है।" लोकसंवाद कार्यक्रम के बाद संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि चुनाव के समाप्त होने के साथ ही उनकी दिलचस्पी काम में रहती है। 

केंद्रीय मंत्रिमंडल में जद (यू) के नहीं शामिल होने का बिहार के विकास पर प्रभाव पड़ने की संभावना से इनकार करते हुए उन्होंने कहा कि अगले पांच साल तक ऐसे सभी पिछड़े राज्यों के विकास के लिए पहल की जानी चाहिए, जिससे ऐसे पिछड़े राज्यों को विकसित राज्यों की श्रेणी में लाया जा सके। 

मुजफ्फरपुर में फैली बीमारी एक्यूट इंसेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) और जापानी इंसेलाइटिस (जेई) से हो रही बच्चों की मौत पर मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग इस पूरे मामले पर नजर रख रहा है। बरसात से पहले ये बीमारी हर साल बिहार में कहर बरपाती है। इसकी पूरी जांच की जा रही है। 

उन्होंने कहा, "लोगों को इस बीमारी को लेकर जागरूक कराना होगा। हर साल बच्चे काल के गाल में समा रहे हैं, ये चिंता का विषय है।" इससे पहले, मुख्यमंत्री ने लोकसंवाद कार्यक्रम में विभिन्न मुद्दों पर लोगों के सुझाव सुने। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment