1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. सिद्धू ने मनमोहन सिंह से मांगी माफी, कहा- मैंने गंगा नहा ली सर, आपके चरणों में सर रखकर...

सिद्धू ने मनमोहन सिंह से मांगी माफी, कहा- मैंने गंगा नहा ली सर, आपके चरणों में सर रखकर...

कांग्रेस महाधिवेशन में नवजोत सिंह सिद्धू अपने चिरपरिचित अंदाज से महफिल में छा गए और जमकर तालियां बटोरी...

Edited by: India TV News Desk [Updated:18 Mar 2018, 9:26 PM IST]
navjot singh sidhu and manmohan singh- India TV
navjot singh sidhu and manmohan singh

नई दिल्ली: कांग्रेस के महाधिवेशन का आखिरी दिन पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू अपने चिरपरिचित अंदाज से महफिल में छा गए और जमकर तालियां बटोरी। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से माफी मांगी और कहा, ‘‘ मुझे आपको पहचानने में 10 साल का समय लगा। मैं माफी मांगता हूं। मैंने गंगा नहा ली सर, आपके चरणों में सर रखकर... आप सरदार हैं और असरदार भी।’’

मनमोहन की तारीफ करते हुए सिद्धू ने कहा कि ‘जो आपके मौन ने कर दिखाया, वो बीजेपी का शोर शराबा नहीं कर पाया, ये बात मुझे दस साल बाद समझ आई। सिद्धू ने कहा कि ‘कांग्रेस हारी होगी तो किसी नेता की वजह से, तुम्हारी (कार्यकर्ता) वजह से नहीं, तुम तो सिकंदर हो, तुम तो शेरों के शेर बब्बर शेर हो। तुम कभी एक्स नहीं होते, तुम यानी कार्यकर्ता।’

पार्टी के 84वें महाधिवेशन में पेश आर्थिक प्रस्ताव पर बोलने के लिए ज्यादातर वक्ताओं को तीन मिनट का समय आवंटित किया गया था, लेकिन सिद्धू मंच पर आए और बोले तो करीब 20 मिनट तक बोलते रहे।

सिद्धू के पूरे संबोधन के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं में गजब का उत्साह देखने को मिला। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस में उनका आना ‘घर वापसी’ है।

सिद्धू ने अपने संबोधन में कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की खूब तारीफ कीं और कहा कि अगले साल लाल किले पर राहुल गांधी तिरंगा फहराएंगे।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: सिद्धू ने मनमोहन सिंह से मांगी माफी, कहा- मैंने गंगा नहा ली सर, आपके चरणों में सर रखकर...
Write a comment