1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. सर्वदलीय बैठक के बाद बोले फारूक अब्दुल्ला- कश्मीर का ये सबसे बुरा वक्त, ऐसे हालात पहले कभी नहीं देखे

सर्वदलीय बैठक के बाद बोले फारूक अब्दुल्ला- कश्मीर का ये सबसे बुरा वक्त, ऐसे हालात पहले कभी नहीं देखे

कश्मीर में अमरनाथ यात्रा रद्द होने और अतिरिक्त सुरक्षा बलों के तैनाती के बाद अफवाहों का बाजार गर्म है। इसी के मद्देनजर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला के घर रविवार को सर्वदलीय बैठक हुई।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 04, 2019 23:56 IST
National Conference President Farooq Abdullah, PDP...- India TV
National Conference President Farooq Abdullah, PDP President and former chief minister Mehbooba Mufti and other leaders during an all party meeting regarding the current situation in Kashmir, in Srinagar

नई दिल्ली: कश्मीर घाटी में मौजूदा हालत पर चर्चा के लिए राज्य के प्रमुख सियासी दलों की रविवार शाम नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला के घर सर्वदलीय बैठक हुई। इस बैठक में सभी प्रमुख पार्टियों ने हिस्‍सा लिया। जिसमें कांग्रेस, पीडीपी की मुखि‍या महबूबा मुफ्ती, सज्‍जाद लोन, शाह फैजल भी शामिल रहे।

कश्‍मीर में अमरनाथ यात्रा रद्द होने और अतिरिक्‍त सुरक्षा बलों के तैनाती के बाद अफवाहों का बाजार गर्म है। इसी के मद्देनजर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्‍दुल्‍ला के घर रविवार को सर्वदलीय बैठक हुई। इसमें सभी प्रमुख पार्टियों ने हिस्‍सा लिया। जिसमें कांग्रेस, पीडीपी की मुखि‍या महबूबा मुफ्ती, सज्‍जाद लोन, शाह फैजल भी शामिल रहे।

सर्वदलीय बैठक के बाद फारूक अब्‍दुल्‍ला ने कहा, ''कश्‍मीर में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। कश्‍मीर के लिए सबसे बुरा वक्‍त है। 30 साल में कभी अमरनाथ यात्रा नहीं रोकी गई। भारी संख्‍या में फोर्स की तैनाती से घाटी के लोग घबराए हुए हैं।'' उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान कोई ऐसा कदम न उठाएं जिससे दोनों देशों के बीच तनाव बढ़े।

बता दें कि कश्‍मीर में अमरनाथ यात्रा रद्द होने और अतिरिक्‍त सुरक्षा बलों के तैनाती के बाद अफवाहों का बाजार गर्म है। बीते कुछ दिनों से राज्य के विशेष संवैधानिक दर्जे और अनुच्छेद 35-ए को समाप्त करने की अटकलें जोर पकड़ रही हैं। कश्मीर केंद्रित सियासत करने वाले मुख्यधारा के राजनीतिक दल और उनके नेता बार-बार इस मुद्दे को उठा रहे हैं। केंद्र सरकार ने अभी तक इन अटकलों को अधिकारिक स्तर पर खारिज नहीं किया है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment