1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. कर्नाटक: मोहनदास पाई ने किया टीपू जयंती का विरोध, सरकार के फैसले को शर्मनाक बताया

कर्नाटक: मोहनदास पाई ने किया टीपू जयंती का विरोध, सरकार के फैसले को शर्मनाक बताया

कर्नाटक की कांग्रेस-जेडीएस सरकार द्वारा 18वीं सदी के शासक टीपू सुल्तान की जयंती मनाने के फैसले पर सियासी संग्राम छिड़ा हुआ है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: November 10, 2018 11:37 IST
Mohandas Pai slams Karnataka government over Tipu Jayanti celebrations- India TV
Mohandas Pai slams Karnataka government over Tipu Jayanti celebrations | Twitter Photo

नई दिल्ली: कर्नाटक की कांग्रेस-जेडीएस सरकार द्वारा 18वीं सदी के शासक टीपू सुल्तान की जयंती मनाने के फैसले पर सियासी संग्राम छिड़ा हुआ है। भारतीय जनता पार्टी और कुछ अन्य संगठन एचडी कुमारस्वामी की सरकार के इस फैसले का जमकर विरोध कर रहे हैं। इस बीच टेक्नोक्रेट मोहनदास पाई ने भी इस मामले को लेकर कर्नाटक की सरकार को घेरा है। पाई ने एक ट्वीट के जरिए टीपू द्वारा हिंदुओं के कत्लेआम की बात कही और सरकार के फैसले को शर्मनाक बताया।

पाई ने एक ट्वीट में कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को टैग करके लिखा, 'सर, पढ़िए कैसे टीपू ने हमारे बहादुर कोडवाओं का खून बहाया। उनका कत्लेआम किया। और आप उसके नाम पर टीपू जयंती मना रहे हैं। आपकी सरकार पर शर्म है। आपकी सरकार सांप्रदायिक है।'  इस ट्वीट में मोहनदास पाई ने एक लेख का लिंक भी शेयर किया है, जिसमें कोडवा समुदाय के लोगों के नरसंहार के बारे में लिखा गया है। 


आपको बता दें कि मोहनदास पाई को देश के बड़े टेक्नोक्रेट्स में गिना जाता है। वह देश की बड़ी आईटी कंपनियों में से एक इन्फोसिस के संस्थापक सदस्य रहे हैं। पाई अभी मणिपाल यूनिवर्सिटी के चेयरमैन हैं। इसके अलावा पाई ने एक और ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने एक लिंक शेयर करते हुए लिखा है कि हमें क्यों टीपू जयंती नहीं मनानी चाहिए।

गौरतलब है कि शनिवार को कर्नाटक सरकार सूबे में टीपू सुल्तान जयंती मना रही है। इसके विरोध में भाजपा, श्रीराम सेना समेत तमाम संगठबन सड़कों पर उतर आए हैं। मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने भी बीमारी की बात कहकर टीपू जयंती के आयोजनों से पल्ला झाड़ लिया है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment