1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. मायावती का CM योगी पर जोरदार हमला, कहा- यूपी में भी बिहार जैसा घिनौना कांड महिला असुरक्षा का प्रमाण

मायावती का CM योगी पर जोरदार हमला, कहा- यूपी में भी बिहार जैसा घिनौना कांड महिला असुरक्षा का प्रमाण

मायावती ने इस पूरे मामले में सरकार की संलिप्तता बताते हुए कहा कि सरकारी संरक्षण के बिना ऐसा अन्याय एवं घोर पाप संभव ही नहीं है।

Edited by: India TV News Desk [Updated:06 Aug 2018, 4:01 PM IST]
mayawati- India TV
mayawati

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जोरदार हमला बोला है। मायावती ने कहा है कि उप्र में भी बिहार जैसा घिनौना कांड हुआ है, लेकिन सरकार इस पूरे मामले पर लीपापोती करती नजर आ रही है। उन्होंने इस मामले में दोषी लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की है।

मायावती ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा, "भाजपा शासित राज्यों में जंगलराज है तथा कानून-व्यवस्था की तरह महिला सुरक्षा एवं सम्मान भी भाजपा की प्राथमिकता में नही है। यह पूरे देश के लिए शर्म एवं चिंता का विषय है।" उन्होंने कहा कि सरकार को बिहार की घटना से सीख लेते हुए फौरन ही अलर्ट हो जाना चाहिए था, लेकिन सरकार सोती रही।

मायावती ने इस पूरे मामले में सरकार की संलिप्तता बताते हुए कहा कि सरकारी संरक्षण के बिना ऐसा अन्याय एवं घोर पाप संभव ही नहीं है। इसलिए उन अधिकारियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, "सरकार के लोग अपने को कानून से ऊपर मानते हैं। जिसकी वजह से समाज का हर तबका दुखी व पीड़ित है और महिलाएं भी शोषण एवं आतंक का शिकार हो रही हैं।"

मायावती ने अपने शासनकाल के दौरान हुई एक घटना का जिक्र किया। उन्होंने कहा, "भाजपा की सरकारों को वह जमाना भी याद कर लेना चाहिए, जब इलाहाबाद के एक गांव में महिला को नग्न कर घुमाने पर जिले के सबसे बड़े अधिकारी एसएसपी को ही निलंबित कर दिया था। ऐसे मामलों में सख्त से सख्त कार्रवाई जब तक नहीं की जाएगी, तब तक ऐसी घटनाएं नही रुकेंगी।"

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: मायावती का CM योगी पर जोरदार हमला, कहा- यूपी में भी बिहार जैसा घिनौना कांड महिला असुरक्षा का प्रमाण
Write a comment