1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. अमेरिका की तरह भारत में भी प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के कार्यकाल की सीमा होनी चाहिए: सिंधिया

अमेरिका की तरह भारत में भी प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के कार्यकाल की सीमा होनी चाहिए: सिंधिया

लोकसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक एवं वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भारत में भी प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जैसे उच्च पदों पर कार्यकाल की सीमा का समर्थन किया...

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: June 30, 2018 17:54 IST
Jyotiraditya Scindia supports fixed terms for leaders on higher posts | PTI- India TV
Jyotiraditya Scindia supports fixed terms for leaders on higher posts | PTI

भोपाल: लोकसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक एवं वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भारत में भी प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जैसे उच्च पदों पर कार्यकाल की सीमा का समर्थन किया। अमेरिका में राष्ट्रपति पद पर एक व्यक्ति के लिए निर्धारित दो कार्यकाल की सीमा वाले सिस्टम का समर्थन करते हुए सिंधिया ने कहा कि हमारे देश में भी प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री जैसे उच्च पदों पर रहने वाले व्यक्ति के लिए सीमा अवधि नियत होनी चाहिए। गौरतलब है कि सिंधिया के मुख्य प्रतिद्वंदी शिवराज सिंह चौहान बीते 13 सालों से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं।

सिंधिया ने भोपाल सेन्ट्रल प्रेस क्लब द्वारा आयोजित ‘प्रेस से मिलिये’ कार्यक्रम में कहा, ‘अमेरिका में राष्ट्रपति पद पर रहने वाले व्यक्ति के लिए 2 कार्यकाल की समयावधि निश्चित है। इसी प्रकार हमारे देश में भी प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जैसे उच्च पदों पर रहने वाले व्यक्ति के लिए सीमित कार्यकालों की संख्या निश्चित होना चाहिए।’ सिंधिया ने मंदसौर में 8 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप और भोपाल में एक दलित किसान को दबंगो द्वारा जिंदा जलाकर मारने की घटनाओं की CBI जांच की मांग की।

इसके अलावा सिंधिया ने प्रदेश और केन्द्र सरकारों द्वारा उच्च अधिकारियों को सेवावृद्धि देने और संविदा पर नियुक्त करने की नीति का विरोध करते हुए कहा, ‘सामान्य तौर पर भी मैं उच्च अधिकारियों के सेवाकाल में वृद्धि की नीति के विरूद्ध हूं लेकिन यदि सरकार यह चुनाव के आसपास करती है तब तो इसमें षड्यंत्र की बू आती है।’ उन्होंने कहा कि जिसका कार्यकाल समाप्त हो चुका है, उसे सेवानिवृत्त होकर अगले आदमी को मौका देना चाहिए।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment