1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. हम आपसी सहयोग से करेंगे वैश्विक खतरों का सामना: राजनाथ सिंह

हम आपसी सहयोग से करेंगे वैश्विक खतरों का सामना: राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को उम्मीद जताई कि भारत, रूस, चीन और मध्य एशिया के अन्य देशों के बीच सहयोग आने वाले दिनों में और मजबूत होगा।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 16, 2019 12:01 IST
Rajnath Singh joins closing ceremony of International Army Scout Masters Competition in Jaisalmer | - India TV
Rajnath Singh joins closing ceremony of International Army Scout Masters Competition in Jaisalmer | ANI

जयपुर: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को उम्मीद जताई कि भारत, रूस, चीन और मध्य एशिया के अन्य देशों के बीच सहयोग आने वाले दिनों में और मजबूत होगा। साथ ही उन्होंने आशा व्यक्त की कि ये देश आपसी सहयोग से वैश्विक खतरों का सामना करने में सक्षम होंगे। सिंह जैसलमेर में पांचवीं अंतरराष्ट्रीय आर्मी स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। प्रतियोगिता में भारत के साथ साथ रूस, चीन, आर्मेनिया, बेलारूस, कजाखस्तान, सूडान और उज्बेकिस्तान की टीमों ने भाग लिया। 

‘आने वाले समय में और बढ़ेगा साथ’

राजनाथ सिंह ने अपने संबोधन में कहा, ‘मुझे पूरा विश्वास है कि आनेवाले समय में हमारा और आपका साथ और अधिक बढ़ेगा। हम आपसी सहयोग बढ़ाकर एक साथ विश्व की कठिन चुनौतियों तथा खतरों का सामना करने में सक्षम बनेंगे। साथ ही भविष्य में हमें आपसी संबंध बढाने के और भी मौके मिलेंगे।’ उन्होंने विश्वास जताया कि इस प्रकार के आयोजनों से प्रतिभागी देशों के परस्पर रिश्ते और गहरे होंगे। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी देशों के साथ हमारे पहले से ही मित्रतापूर्ण रिश्ते रहे हैं।


विभिन्न देशों के साथ रिश्तों का किया जिक्र
रक्षा मंत्री ने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले देशों के साथ रिश्तों का भी जिक्र किया। सिंह ने कहा ‘रूस के साथ तो भारत के लंबे समय से बहुत ही गहरे रणनीतिक रिश्ते भी रहे हैं। वहीं चीन के साथ हम द्विपक्षीय अभ्यास हैंड इन हैंड में भाग लेते हैं जिससे हमें एक दूसरे के बारे में बेहतर समझ बनाने में बहुत सहयोग मिलता है। इसी तरह मध्य एशिया के सभी देशों बेलारूस, अर्मेनिया, कजाखस्तान और उज्बेकिस्तान के साथ हमारे ऐतिहासिक रिश्ते रहे हैं जिनमें व्यापारिक तथा सांस्कृतिक रिश्ते शामिल हैं।’

विजेता टीमों को किया सम्मानित
रक्षा मंत्री ने प्रतियोगिता की विजेता टीमों को सम्मानित भी किया। इस अवसर पर आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत भी मौजूद थे। एक सैन्य प्रवक्ता ने बताया कि भारत ने प्रतियोगिता के 5 चरणों में से प्रथम 4 चरणों में पहला स्थान प्राप्त किया है जबकि पांचवे चरण में भारत की टीम दूसरे स्थान पर और उज्बेकिस्तान प्रथम स्थान पर रहा। 8 देशों में भारत ने कुल मिलाकर प्रथम स्थान प्राप्त किया है जबकि उज्बेकिस्तान दूसरे, रूस तीसरे, चीन चौथे, कजाकिस्तान पांचवें, बेलारूस छठे, आर्मेनिया सातवें, और सूडान आठवें स्थान पर रहा। उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने पहली बार प्रतियोगिता में भाग लिया।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment