1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. राम मंदिर पर उमा भारती को 'सब्र' नहीं, योगी-केंद्र पर खड़े किए सवाल

राम मंदिर पर उमा भारती को 'सब्र' नहीं, योगी-केंद्र पर खड़े किए सवाल

उमा भारती ने कहा कि अयोध्या में मंदिर निर्माण के तीन रास्ते सुप्रीम कोर्ट का फैसला, आपसी बातचीत और संविधान में संसोधन है। इन तीन में महत्वपूर्ण राष्ट्रीय संकल्प और राष्ट्रीय संकल्प के तहत सबको साथ ले संविधान संशोधन कर सभी दलों के सहयोग से ही राम मंदिर का निर्माण हो।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: June 27, 2018 7:33 IST
राम मंदिर पर उमा भारती को 'सब्र' नहीं, योगी-केंद्र पर खड़े किए सवाल- India TV
राम मंदिर पर उमा भारती को 'सब्र' नहीं, योगी-केंद्र पर खड़े किए सवाल

नई दिल्ली: मोदी सरकार में मंत्री उमा भारती ने अयोध्या में जल्द राम मंदिर बनाने की मांग कर दी है। उमा भारती ने कहा कि केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश तक हमारी सरकार है, अब साहसिक निर्णय लेने का वक्त आ गया है। उमा का ये बयान योगी आदित्यनाथ के उस बयान के अगले ही दिन आ गया जिसमें योगी ने राम मंदिर पर धैर्य रखने की अपील की थी। उमा भारती ने कहा कि वह योगी की तरह धैर्य धारण नहीं कर सकती हैं, चाहती हैं कि आज ही राम मंदिर का निर्माण हो।

उमा भारती ने कहा कि अयोध्या में मंदिर निर्माण के तीन रास्ते सुप्रीम कोर्ट का फैसला, आपसी बातचीत और संविधान में संसोधन है। इन तीन में महत्वपूर्ण राष्ट्रीय संकल्प और राष्ट्रीय संकल्प के तहत सबको साथ ले संविधान संशोधन कर सभी दलों के सहयोग से ही राम मंदिर का निर्माण हो, जिसने इस क्षण को गवाया वह भारत के इतिहास में गौरव गवायेगा। उन्होंने कहा कि सत्ता अपनी आनी-जानी माया है, हमें साहसिक निर्णय लेना चाहिए।

गौरतलब है कि सोमवार को अयोध्या में एक कार्यक्रम के दौरान साधु-संतों ने सीएम योगी के सामने साफ कहा था कि अब देरी किए बिना मंदिर का निर्माण शुरू होना चाहिए, जिस तरह मस्जिद गिराई गई थी उसी तरह एक रात में मंदिर भी बनाया जा सकता है।

बता दें कि सोमवार को संतों के सामने यूपी सीएम योगी ने कहा था कि राम मंदिर का मामला समाधान की तरफ जा रहा है। अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा। योगी ने सवाल किया कि संतों को मंदिर निर्माण को लेकर संदेह क्यों हो रहा है? उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण पूरे भारत की भावना है।

योगी आदित्यनाथ और उमा भारती ने राम मंदिर के पक्ष में खुल कर बयान तो दिया लेकिन इन बयानों की टाइमिंग पर सवाल उठ सकते हैं। 2019 का लोकसभा चुनाव करीब आ रहा है और अब राम मंदिर पर बयान को वोट बैंक की राजनीति से जोड़ कर देखा जा सकता है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment